2

जंग अभी जारी है, अब एमएसपी की बारी है

जंग अभी जारी है, अब एमएसपी की बारी है

11 से 17 अप्रैल तक मनाएगा न्यूनतम समर्थन मूल्य गारंटी सप्ताह

केएमबी नीरज डेहरिया

सिवनी। केंद्र की मोदी सरकार के द्वारा तीन किसान विरोधी बिल वापसी के साथ न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कमेठी बनाये जाने व किसानों पर आंदोलन के दौरान लादे गए प्रकरणों की वापसी व अन्य मांगों पर दिए गए लिखित आश्वासन पर वादा खिलाफी के विरोध में मोर्चा के राष्ट्रीय आह्वान पर स्थानीय अंबेडकर प्रतिमा के समक्ष एक दिवसीय धरना प्रदर्शन के बाद जिला कलेक्टर के माध्यम से महामहीम राष्ट्रपति को अपने मांग ज्ञापन के माध्यम से हस्तक्षेप किए जाने की बात कही है।प्रर्दशन में प्रमुख रूप से अखिल भारतीय किसान सभा के डी डी वासनिक, राजेन्द्र जयसवाल, ओम प्रकाश बुरडे, अंगद सिंह बघेल, प्रोफेसर बी सी ऊके, कामरेड तीरथ गजभिये, सुरेंद्र अहमद नायडू मोर्चा के अध्यक्ष पी आर इनवाती, पर्यावरण वाहिनी के ईश्वर सिंह राजपूत, किसान संघर्ष समिति के डॉ राजकुमार सनोडिया, तीरथ प्रसाद सनोडिया, राजेश पटेल राष्ट्रीय किसान मजदूर महासभा के राजेश सौलंकी, अन्नदाता किसान संगठन के हुकुम सनोडिया, रंजीत बघेल, रविन्द्र सिंह बघेल, पूर्व जिला पंचायत के अध्यक्ष मोहन चंदेल ओबीसी महासभा के विनोद यादव सहित दर्जनों की संख्या में किसान समर्थक उपस्थित रहे। सँयुक्त किसान मोर्चा के जिला प्रवक्ता राजेश पटेल ने बताया की आज  सँयुक्त किसान मोर्चा से जुड़े किसान संगठनों के माध्यम से जिला मुख्यालयों में एक दिवसीय धरना आंदोलन के साथ रोष पत्र सौपा है इसके पूर्व मोर्चा विश्वासघात दिवस मना चुका है।11 अप्रैल से 17अप्रैल तक न्यूनतम समर्थन मूल्य  की कानूनी गारंटी सप्ताह आयोजित करने का फैसला लिया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6