2

प्रो0 गहरवार के मार्गदर्शन में "परीक्षा की तैयारी एवम सटीक उत्तर लेखन" हेतु व्याख्यानमाला आयोजित

प्रो0 गहरवार के मार्गदर्शन में "परीक्षा की तैयारी एवम सटीक उत्तर लेखन" हेतु व्याख्यानमाला आयोजित

केएमबी रोहित मरकाम
 
सिवनी। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा निर्धारित स्वामी विवेकानंद कैरियर मार्गदर्शन योजना के सत्र 2021-22 के कैरियर कैलेंडर के दिशानिर्देशनुसार माह अप्रैल में शासकीय महाविद्यालय कुरई में विद्यार्थियों के लिए "परीक्षा की तैयारी एवम सटीक उत्तर लेखन" विषय पर व्याख्यानमाला का आयोजन कर विद्यार्थियों को परीक्षा पूर्व निर्देश दिए गए। इस अवसर पर प्राचार्य बीएस बघेल व समस्त स्टॉफ जिनमें डॉ श्रुति अवस्थी, डॉ मधु भदौरिया, योगेश तिवारी, डॉ कंचनबाला डावर, अलका नागले, संतोष चंचल,  प्रो. जयप्रकाश मेरावी, डॉ अखिलेश शेंडे की उपस्थिति रही। उपरोक्त विषय पर सबसे पहले महाविद्यालय के प्रशासनिक अधिकारी पवन सोनिक ने विद्यार्थियों को बताया कि राजा शंकर शाह यूनिवर्सिटी छिंदवाड़ा द्वारा ली जाने वाली परीक्षाओं में उत्तर पुस्तिका में ओएमआर शीट संलग्न हैं। विद्यार्थी सावधानीपूर्वक रोल नंबर, पेपर कोड, परीक्षा केंद्र क्रमांक भरकर निर्धारित स्थान पर नीले या काले बाल पेन से गोले भरें। इसके साथ ही इस बात का ध्यान रखा जाए कि गोले के बाहर स्याही न फैलें और न ही ओएमआर फॉर्म पर कोई भी निशान लगाएं। इस बार उत्तरपुस्तिका में विद्यार्थियों को निर्धारित स्थान पर हस्ताक्षर करना हैं। हिंदी विभागप्रमुख प्रो. जयप्रकाश मेरावी ने विद्यार्थियों को कहा कि वे परीक्षा में साफ व सुस्पष्ठ लिखें। व्याख्यानमाला में आगे तीजेश्वरी पारधी ने बताया कि परीक्षार्थी उत्तर लिखने से पहले दिए गए प्रश्न पत्र में पेपर कोड क्रमांक, पेपर नाम सत्र इत्यादि को ध्यान से पढ़ें। उत्तरपुस्तिका के दोनों और लिखना अनिवार्य हैं। रसायन शास्त्र विभागप्रमुख डॉ श्रुति अवस्थी ने बताया कि उत्तरपुस्तिका का कोई भी पृष्ठ न फाड़ा जाए और न मोड़ा जाए। परीक्षार्थी आपस में बात न करें, नकल न करें, दुर्व्यवहार न करें। परीक्षा भवन में प्रवेश पत्र के अतिरिक्त कोई भी अनाधिकृत वस्तु, पुस्तक अथवा लेख नही लाना हैं। प्राचार्य बीएस बघेल ने सभी परीक्षार्थियों को परीक्षा के लिए अग्रिम शुभकामनाएं प्रेषित कर बताया कि परीक्षार्थी विश्वविद्यालय द्वारा जारी निर्देशों व केंद्राध्यक्ष के आदेशों का अनिवार्यतः पालन करें। उपस्थित सभी विद्यार्थियों ने इस व्याख्यानमाला को गम्भीरता व ध्यान से सुना। टीपीओ प्रो. पंकज गहरवार ने विद्यार्थियों से कहा कि वे तनावमुक्त रहकर पूरे आत्मविश्वास व सकारात्मक सोच से परीक्षा दें। आपकी वर्ष भर की मेहनत का आपको बहुत अच्छा परिणाम मिलेगा। विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाने के लिए प्रो. गहरवार  कहा कि "बेवज़ह दिल पे कोई बोझ न भरी रखिये, जिंदगी जंग है इस जंग को जारी रखिये..!
कितने दिन जिंदा रहे इसकी न गिनती कीजिये,
किस तरह जिंदा रहे इसकी शुमारी रखिये..!!"

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6