डीएम के समक्ष चमार महासभा ने उठाया अभिलेखागार में भ्रष्टाचार का मुद्दासीआरओ को जांच का दिया निर्देशगंभीर आरोपों के बावजूद आरआरके पवन सिंह पर प्रशासन मेहरबान

डीएम के समक्ष चमार महासभा ने उठाया अभिलेखागार में भ्रष्टाचार का मुद्दा
सीआरओ को जांच का दिया निर्देश
गंभीर आरोपों के बावजूद आरआरके पवन सिंह पर प्रशासन मेहरबान

केएमबी मंडल ब्यूरो कर्मराज द्विवेदी
सुलतानपुर। जिलाधिकारी कार्यालय स्थित राजस्व अभिलेखागार में आरआरके पवन सिंह पर   भ्रष्टाचार में संलिप्त होने के आरोप लगते रहे हैं फिर भी उन पर प्रशासन की दरियादिली बरकरार है। जिसके चलते हर तरह के जायज नाजायज  कार्य करते हुए पवन सिंह द्वारा दोनों हाथों से धनउगाही की जा रही है। शिकायतें मिलने पर मात्र महीने भर के लिए पद से हटाने के बाद पुनः उसी पद पर पवन सिंह को तैनात कर भ्रष्टाचार की खुली छूट दे दी गयी है। जिसके खिलाफ चमार महासभा ने मोर्चा खोलते हुए पवन सिंह को अभिलेखागार से हटाने की जिलाधिकारी से मांग कर डाली। जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य राजस्व अधिकारी को प्रकरण चेक करने का निर्देश दिया है। 
        बताते चलें कि इन दिनों राजस्व अभिलेखागार में आरआरके के भ्रष्ट कारनामों की चर्चाएं प्रमुखता से छायी हुई हैं। चमार महासभा के अध्यक्ष विजय राणा चमार ने यूनुस अली सिद्दीकी पुत्र अकबर अली सिद्दीकी एवम शहजाद अली पुत्र महमूद अली हसनपुर से मिली सशपथपत्र शिकायतों के साथ जिलाधिकारी रबीश गुप्ता से गुरुवार को मिलकर अभिलेखागार में बड़े पैमाने पर व्याप्त भ्रष्टाचार के बारे में जानकारी देते हुए आर आर के पवन सिंह को हटाकर जांच कराने की मांग की। जिसको गम्भीरता से लेते हुए डीएम ने सीआरओ को मामला चेक करने का निर्देश दिया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.