2

घरों से निकलने वाले गंदे और बदबूदार पानी से ग्रामीण हो रहे हैं बीमार, स्वच्छता की उड़ रही है धज्जियां

घर से निकलने वाला दूषित एवं बदबूदार पानी से ग्रामीण हो रहे बीमार

केएमबी श्रावण कामड़े

बिछुआ। एक तरफ जहां केंद्र व प्रदेश की सरकार स्वच्छ भारत मिशन का अभियान चलाकर ग्रामीणों को स्वच्छता का संदेश देने में लगी है तो वहीं दूसरी तरफ जिम्मेदार महकमा स्वच्छ भारत मिशन की योजना में पलीता लगाने से बाज नहीं आ रहे हैं। ग्राम पंचायतों में जल निकासी की समुचित व्यवस्था न होने के कारण जहां पानी सड़कों पर जमा रहता है जिसके कारण ग्रामीण तमाम बीमारियों से ग्रसित हो रहे हैं। घरों से निकलने वाले प्रदूषित पानी सड़कों पर जमा होने के कारण ग्रामीण इसे प्रदूषित एवं बदबूदार पानी से निकलने के लिए मजबूर हैं। ताजा मामला जनपद पंचायत बिछुआ के अंतर्गत आने वाली ग्राम पिपरिया कला के वार्ड क्रमांक दो साथ ही वार्ड क्रमांक तीन एवं ग्राम के अन्य वार्ड में सीमेंटीकरण कर सड़कें पक्की तो कर दी गयी है लेकिन नालियों के अभाव में सबके घरों का गंदा और बदबूदार पानी खुले में सड़क पर बहता रहता है। जिसके कारण स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रामीण एवं बच्चे ग्रसित हो रहे हैं। घरों से निकलने वाला गंदा रूम बदबूभरा पानी सड़कों पर भर रहा है। पूरे गाँव का गंदा पानी गलियों से होकर खाली पड़े प्लॉटों में भर गया है। स्थिति यह है कि निचले इलाके में रहने वाले ज्यादातर मकान पानी की समस्या में हैं। आवागमन का रास्ता ग्रामीण लोगों को गंदा पानी के बीच से होकर ही गुजरना पड़ता है। कीचड़ और फिसलन होने के कारण आए दिन लोग रास्ते में गिरकर चोटिल होते हैं। घर से निकलने वाला दूषित पानी से ग्रामीण हो रहे परेशान। ग्रामीणों का कहना है कि जल्द से जल्द नाली का निर्माण किया जाए जिससे कि ग्रामीणों को स्वास्थ्य संबंधी संबंधी समस्याओं से निजात मिल सके और उनके स्वास्थ्य के साथ में खिलवाड़ न हो।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6