2

राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाई गई लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती

राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाई गई लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती

केएमबी ब्यूरो रानू शुक्ला

बांदा। लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस कोे जनपद में राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में हर्षोल्लास से मनाया गया। आयोजित कार्यक्रम के अन्तर्गत सोमवार की प्रातः 08ः00 से जनपद के प्राथमिक वि़द्यालय के छात्र व छात्राओं द्वारा प्रभात फेरी निकाली गयी। आयुक्त चि़त्रकूटधाम मण्डल बांदा आरपी सिंह ने आयुक्त कार्यालय में लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल के चित्र पर माल्यार्पण किया। आयुक्त ने आयुक्त कार्यालय के अधिकारियों व कर्मचारियों को राष्ट्र की एकता, अखण्डता और सुरक्षा को बनाये रखने के लिए शपथ दिलायी। इस अवसर पर अपर आयुक्त प्रशासन अमरपाल सिंह सहित अधिकारी व कर्मचारी गण उपस्थित रहे। कलेक्ट्रेट में आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी बांदा अनुराग पटेल ने सरदार बल्लभ भाई पटेल के जन्म दिवस के अवसर पर उनके चित्र पर माल्यार्पण किया।कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि सरदार बल्लभ भाई पटेल का जन्म दिवस को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। सरदार बल्लभ भाई पटेल किसान परिवार से थे। उन्होंने कहा कि सरदार बल्लभ भाई पटेल स्वतंत्रता संग्राम आन्दोलन में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के साथ देश को आजादी दिलाने में आजीवन लगे रहे। उन्होंने अपनी दूरदर्शिता व सूझ-बूझ से कई रियासतों का विलय कर खण्ड-खण्ड भारत को अखण्ड भारत बनाने का कार्य किया था। उन्हें लौह पुरूष भी कहा जाता है। इसके साथ ही उन्हें उनके कार्यों के लिए भारत रत्न से भी नवाजा गया। सरदार बल्लभ भाई पटेल दृढ़ इच्छाशक्ति रखने वाले व बहुत ही सरल स्वभाव के थे। हम लोंगो का कर्तव्य है कि हम राष्ट्र की एकता और अखण्डता को सुदृढ़ बनाने का कार्य करें तथा ऐसा कोई कार्य न करें जिससे राष्ट्र की एकता और अखण्डता के लिए खतरा हो। उन्होंने कहा कि आंतरिक सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए यह जरूरी है कि असमाजिक तत्वों पर हम लोंग निगाह रखें तथा असमाजिक गतिविधियों की जानकारी प्रशासन को दें।
कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने उपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलायी, जिसमें उन्होंने राष्ट्र की एकता, अखण्डता और सुरक्षा को बनाये रखने के लिए स्वयं को समर्पित करने और अपने देशवासियों के बीच इसका संदेश फैलाने तथा देश की आन्तरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने का भी सत्यनिष्ठा से संकल्प दिलाने की शपथ दिलायी। कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी वि0 एवं रा0 उमाकान्त त्रिपाठी ने कहा कि सरदार बल्लभ भाई पटेल छात्र जीवन से ही संघर्षशील विचार के थे। उन्होंने वैचारिक व क्रियात्मक रूप से महत्वपूर्ण योगदान देते हुए भारत की कई बटी हुई रियासतों को जोडने का कार्य किया। वह एक भारत श्रेष्ठ भारत के प्रणेता थे। कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी नमामि गंगे एमपी सिंह, डिप्टी कलेक्टर शशि भूषण शुक्ला ने भी सरदार बल्लभ भाई पटेल के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके आदर्शों को अपनाने को कहा। कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी न्यायिक अमिताभ यादव सहित कलेक्ट्रेट के अधिकारी एवं कर्मचारी गण उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8

6