2

डेंगू संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए आमजन में भय का माहौल

डेंगू संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए आमजन में भय का माहौल

केएमबी रुखसार अहमद
सुल्तानपुर। प्रदेश में लगातार बढ़ रहे डेंगू मरीजों की संख्या से आमजन में भय का माहौल बनता जा रहा है। डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखकर लोगों को एक बार फिर डर सताने लगा है कहीं कोविड-19 जैसे महामारी का सामना न करना पड़ जाए। फिलहाल प्रदेश सरकार डेंगू बीमारी की रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास कर रही है फिर डेंगू संक्रमण पर विराम नहीं लग पा रहा है। जिला अस्पताल सहित जिले के तमाम अस्पताल डेंगू के मरीजों का इलाज कर रहे हैं। स्वास्थ्य महकमे द्वारा डेंगू संक्रमण से बचाव के लिए चाहे जितने वादे किए जा रहे हैं लेकिन जमीनी हकीकत तो कुछ और ही है। उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर हालात की स्थिति के बारे में जाना और उन्होंने लोगों से अपील की है कि प्लेटलेट्स घटने से लोगों को परेशान नहीं होना चाहिए क्योंकि आमतौर पर वायरल फीवर के कारण भी प्लेटलेट्स कम हो जाता है। जरूरी नहीं कि डेंगू में ही प्लेटलेट्स घटे, ऐसे में डेंगू को लेकर घबराए नहीं। उपमुख्यमंत्री ने सभी जिलों में जिला अस्पतालों में बेहतर उपचार व सभी जरूरी दवाओं का इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि सभी अस्पतालों में फीवर हेल्प डेस्क खोलने और डेंगू की वार्ड हुआ एलाइजा की निशुल्क जांच की जाए। फिलहाल वर्ष 2021 के मुताबिक इस वर्ष डेंगू मरीजों की संख्या काफी कम है जहां 2021 में डेंगू मरीजों की संख्या 29750 के लगभग पहुंच गई थी तो वही जनवरी 2022 से लेकर अब तक डेंगू मरीजों की संख्या लगभग 7000 के पार हुई है। फिलहाल फिलहाल स्वास्थ्य महकमे द्वारा लगातार कैंप लगाकर डेंगू एवं मलेरिया की जांच की जा रही है जिसमें रोज बड़ी संख्या में डेंगू के मरीज मिल रहे हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8

6