2

बढ़ती ही जा रही है माफिया मुख्तार की मुश्किलें, मनीलांड्रिंग मामले में ईडी को मिली 10 दिनों की रिमांड

बढ़ती ही जा रही है माफिया मुख्तार की मुश्किलें, मनीलांड्रिंग मामले में ईडी को मिली 10 दिनों की रिमांड

केएमबी संवाददाता

प्रयागराज। जयराम की दुनिया का बेताज बादशाह बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं। मनी लांड्रिंग मामले में बुधवार को मुख्तार अंसारी को कोर्ट में पेश किया गया। प्रयागराज की स्पेशल ईडी कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय को 10 दिन की कस्टडी रिमांड मंजूर की है। मुख्तार 23 दिसंबर दोपहर 2 बजे तक ईडी की कस्टडी रिमांड पर रहेंगे।हालांकि कोर्ट ने कस्टडी रिमांड मंजूर करते हुए कुछ शर्तें भी रखी हैं। मुख्तार को टार्चर नहीं किया जाएगा और वे अपने वकीलों से मिल सकेंगे। इतना ही नहीं कस्टडी रिमांड पर लेने से पहले मुख्तार का मेडिकल भी कराना होगा। कोर्ट ने यह भी निर्देश दिया है कि मुख्तार के वकील ईडी के काम में किसी तरह से दखल नहीं देंगे।कोर्ट से कस्टडी रिमांड मिलने के बाद अब ईडी माफिया मुख्तार अंसारी से मनी लांड्रिंग मामले में पूछताछ करेगी।इससे पहले ईडी ने बांदा जेल से लाकर मुख़्तार को सेशन कोर्ट में पेश कर 14 दिन की कस्टडी रिमांड मांगी थी,लेकिन सेशन जज संतोष कुमार राय ने 10 दिन की ही कस्टडी रिमांड मंजूर की। 10 दिन में ईडी मुख़्तार को अपने दफ्तर में रखकर पूछताछ करेगी।ईडी मुख्तार को मऊ और गाजीपुर भी लेकर जा सकती हैं।ईडी 23 दिसंबर दोपहर 2:00 बजे के पहले मुख्तार को फिर से कोर्ट में पेश करेगी। बता दें कि माफिया मुख्तार अंसारी को कस्टडी में लेने के लिए ईडी ने मनी लांड्रिंग केस में दाखिल की जाने वाली चार्जशीट को आधार बनाया।ईडी ने पिछले साल मार्च में मुख्तार अंसारी के खिलाफ मनी लांड्रिंग का केस दर्ज किया था। ईडी की प्रयागराज यूनिट मुख्तार के खिलाफ दर्ज इस केस की जांच कर रही है। ईडी की टीम ने पिछले साल नवंबर में बांदा जेल जाकर मुख्तार का बयान दर्ज कर चुकी है। इस मामले में मुख्तार का विधायक बेटा अब्बास अंसारी और साला सरजील रजा पहले से जेल में बंद है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8


 

6