2

पुलिस कस्टडी में युवक की मौत के मामले में सांसद देवेंद्र सिंह भोले सीएम के निर्देश पर पहुंचे मृतक के गांव

पुलिस कस्टडी में युवक की मौत के मामले में सांसद देवेंद्र सिंह भोले सीएम के निर्देश पर पहुंचे मृतक के गांव

केएमबी संवाददाता

कानपुर देहात। जिले में पुलिस कस्टडी में युवक की मौत की घटना से इलाके में तनाव फैल गया है। बवाल को देखते हुए इटावा, कानपुर, औरैया और कन्नौज आदि जगहों की पुलिस और पीएसी कानपुर देहात पहुंच गई है। घटना की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने शिवली कोतवाल राजेश सिंह, एसओजी प्रभारी प्रशांत गौतम, मैथा चौकी प्रभारी ज्ञान पांडेय समेत 9 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए राज्यमंत्री प्रतिभा शुक्ला ने भी मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। विदित रहे कि शिवली थाना क्षेत्र के सरैया गांव में इसी महीने छह दिसंबर को चंद्रभान सिंह नाम के व्यापारी से लूट हो गई थी।चंद्रभान मैथा बाजार में अपनी दुकान बंद कर लौट रहा था, तभी पीछे से आए बाइक सवार 6 बदमाशों ने जेवरात समेत करीब साढ़े 4 लाख रुपए लूट लिए थे। विरोध पर चंद्रभान को पीटा भी था। घटना के खुलासे के लिए कोतवाली शिवली और एसओजी समेत 4 टीमें बनाई गई थीं।12 दिसंबर दिन सोमवार को पुलिस ने चंद्रभान के रिश्ते में लगने वाले भतीजे बलवंत समेत 5 लोगों को पूछताछ के लिए उठाया था।पुलिस कस्टडी में लेने के कुछ ही घंटे बाद ही बलवंत की तबीयत बिगड़ गई। आनन-फानन में पुलिस उसे जिला अस्पताल लेकर आई, लेकिन यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।पुलिस परिजनों को सूचना देकर शव पोस्मार्टम हाउस ले आई उधर घटना की जानकारी होने पर परिजन भी अस्पताल पहुंच गए।परिजन हंगामा करते हुए बलवंत का शव लेकर वहां से भाग निकले। मृतक बलवंत के बड़े भाई सचिन ने पुलिस पर बलवंत को पीट-पीटकर मारने का आरोप लगाया। एसपी ने बताया कि मृतक के परिजन जो भी आरोप लगा रहे हैं, उसको संज्ञान में लेते हुए खुलासे के लिए लगी एसओजी टीम, मैथा चौकी प्रभारी और थाना प्रभारी को तत्काल सस्पेंड कर दिया गया है। पूरे मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है। हालांकि अभी तक मृतक के परिजनों ने लिखित तहरीर नहीं दी. परिजनों को समझा-बुझाकर शव को दोबारा से पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। सीएम के निर्देश पर  सांसद देवेंद्र सिंह भोले गांव में पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। सांसद ने परिजनों को समझा बुझाकर शांत कराया।सांसद के आश्वासन पर परिजन अंतिम संस्कार करने के लिए तैयार हुए। सांसद देवेंद्र सिंह भोले ने पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठाए। डीएम ने तत्काल मृतक की पत्नी को 4 लाख का चेक सौंपा। जिला प्रशासन की ओर से पीड़ित परिवार को बृद्धा पेंसन, विधवा पेंशन, आवास, जमीन का पट्टा देने का आश्वासन दिया गया। डीएम, मृतक के बच्चों की पढ़ाई कराने का आश्वासन दिया एवं मृतक की पत्नी को गांव में सरकारी नौकरी देने का भी आश्वासन दिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8


 

6