2

व्यापार बन्धु की बैठक में बैंकों को उपयुक्त पात्रों को यथाशीघ्र ऋण उपलब्ध कराने का निर्देश

व्यापार बन्धु की बैठक में बैंकों को उपयुक्त पात्रों को यथाशीघ्र ऋण उपलब्ध कराने का निर्देश

केएमबी कर्मराज द्विवेदी

सुलतानपुर। जिलाधिकारी रवीश गुप्ता की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में व्यापार बन्धु की बैठक आयाजित की गयी। बैठक में जनपद में लागू ई-रिक्शा संचालन व्यवस्था पर सभी द्वारा संतोष व्यक्त किया गया। व्यापारियों द्वारा कहा गया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अन्तर्गत अभी भी कतिपय आवेदनकर्ताओं को आवटित ऋण आवेदनकर्ता के खातों में ट्रांसफर नहीं हुआ है।जिलाधिकारी द्वारा बैंकों को निर्देशित किया गया कि प्राप्त प्रार्थना पत्रों पर तीव्रता से कार्यवाही करते हुए सभी उपयुक्त पत्रों को यथाशीघ्र ऋण उपलब्ध करा दें। बिरसिंहपुर के व्यापारियों द्वारा सभा को अवगत कराया गया कि बिरसिंहपुर बाजार के चौक व ग्रामीण बैंक के सामने लगी हाईमास्क लाइट कई दिनों से खराब है। जिलाधिकारी द्वारा अधिशाषी अधिकारी दोस्तपुर व अधिशाषी अभियन्ता विद्युत, जयसिंहपुर को हाईमास्क लाईट को ठीक कराने हेतु त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिये गये।सभा को सम्बोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा द्वारा अवगत कराया गया कि जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जनपद में एक इन्वेस्टर सेल का गठन किया गया है, जिसमें व्यापारियों को भूमि अधिग्रहण एवं सुरक्षा से सम्बन्धित कोई समस्या आती है, तो इस सम्बन्ध में अपना प्रार्थना पत्र इन्वेस्टर सेल में दे सकते हैं, जिस पर त्वरित कार्यवाही की जायेगी। यह सुझाव दिया गया कि व्यापारियों द्वारा जहाँ बाजार का विकास करना है, तो पूर्व से ही वहां पर पुलिस चौकी की जगह के सम्बन्ध में भी उचित प्रावधान को शामिल करें तथा इसकी सूचना पुलिस अधीक्षक कार्यालय को भी प्राप्त कराये, जिससे वहां पर पुलिस चौकी की स्थापना के सम्बन्ध में कार्मिकों की तैनाती करने में आसानी हो सके, अन्यथा की स्थिति में बाजार विकसित हो जाने के पश्चात वहां पर पुलिस चौकी स्थापित करने हेतु जगह की समस्या उत्पन्न होती है। सभा को यह अवगत कराया गया कि पुलिस की सतर्कता व कड़ाई के कारण जनपद में लूट की कोई घटना घटित नहीं हुई है। साथ ही साथ सभी व्यापारियों को सुझाव दिया कि अपने पैसे के लेनदेन में गोपनीयता बरतते हुए अपने पैसे के मूवमेंट के पैटर्न को परिवर्तित करते रहें, जिससे व्यापारी की पैसे की गतिविधि को कोई भांप न सके। इससे भी चोरी की घटनाएं हतोहत्साहित होगी। बैठक में सभी का ध्यान साइबर फ्राड की ओर आकृष्ट कराते हुए उससे बचने के लिये सचेत रहने व सुरक्षा की बचाव के मंत्र को अपनाने को कहा। उन्होंने उदाहरण देते हुए समझाया कि आनलाइन खरीददारी व सेवाओं को प्राप्त करने में आने वाली समस्याओं के सम्बन्ध में जब किसी व्यक्ति द्वारा गूगल से प्राप्त काॅल सेन्टर नम्बर पर शिकायत हेतु काॅल की जाती है, तो ऐसे में यह हो सकता है कि यह काल किसी फाल्स काल सेन्टर  पर लगी हो। ऐसे फाल्स काल सेन्टर आपकी विभिन्न डिटेल प्राप्त कर आपका आर्थिक नुकसान कर सकते हैं। व्हाट्सएप पर आने वाली विभिन्न वीडियो काल की प्रति सचेत रहते हुए किसी परिचित की वीडियोकाल को ही उठाने हेतु सुझाव दिया गया, अन्यथा स्थिति में किसी केके आईडी महिला के साथ जो आपत्तिजनक स्थिति में हो, के साथ की स्क्रीनशाॅट लेकर आपको ब्लैकमेल कर सकता है। उपरोक्त सुझावों के अतिरिक्त अपराध के रोकथाम हेतु अपने व्यवसाय केन्द्र व आस-पास के चैराहों पर सीसीटवी कैमरा लगवाने का सुझाव दिया गया, जिससे अपराधी की पहचान रते हुए उसके विरूद्ध त्वरित  गति से कार्यवाही की जा सके। इस अवसर पर सहायक आयुक्त राज्य कर, उप चिकित्साधिकारी सुलतानपुर, उपायुक्त उद्योग, परियोजना अधिकारी डूडा, सहायक अभियन्ता जल निगम (नगरीय) सुलतानपुर, लीड बैंक प्रतिनिधि, श्रम प्रवर्तन अधिकारी, टी0एस0 नगर पालिका परिषद, सहायक अभियन्ता एन0एच0 पी0डब्ल्यू0डी0, अग्निशमन अधिकारी, यातायात निरीक्षक, आर0आई0 परिवहन विभाग, वन दरोगा, औषधि निरीक्षक, प्रमुख बैंकों के प्रबन्धक, जिले के प्रमुख व्ययसायी, उद्यमी व अन्य विभागों के अधिकारियों ने प्रतिभाग किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8


 

6