2

ग्राम विकास अधिकारी की मिलीभगत से ग्रामप्रधान ने हड़पे ग्रामपंचायत के लाखों रुपए

ग्राम विकास अधिकारी की मिलीभगत से ग्रामप्रधान ने हड़पे ग्रामपंचायत के लाखों रुपए 

केएमबी रुक्सार अहमद

सुल्तानपुर। प्रदेश की योगी सरकार भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लाख दावे कर ले लेकिन जमीनी हकीकत तो कुछ औऱ है। ताजा मामला विकासखंड जयसिंहपुर की ग्राम पंचायत गणेशपुर कैथौली का है जहां ग्रामप्रधान शकील अहमद द्वारा अवैध रूप से खारिज किए गए वित्तीय वर्ष 2020-21 में लाखों रुपए।

पंचायती राज वित्तीय वर्ष 2020-21

पंचायती राज से प्राथमिक विद्यालय गणेशपुर कैथौली में टाइल्स कार्य हेतु मजदूरी के लिए ग्रामप्रधान शकील अहमद के नाम पर 5 जुलाई 2020 को 43630 रुपए निकाले गए। 26 अक्टूबर 2020 को रतनसिरापुर के मदरसा से नादिर खान पक्की सड़क तक मिटटी व खड़ंजा हेतु मटेरियल मजदूरी भुगतान 125283 रुपए किया गया जिसमें से मजदूरी का ₹27336 रुपए प्रधान शकील अहमद के खाते में गई व  ₹97947 हरिश्चंद्र रामसुख ईट भट्ठा को गया। रतनसिरापुर पक्की सड़क से मदरसे से खड़ंजा के शेष भाग तक मिटटी व खड़ंजा निर्माण कार्य के लिए 28 अक्टूबर 2020 को 45447 रुपए खर्च किए गए।जिसमें से हरिश्चंद्र रामसुख ईट भट्ठा को ₹34794 व प्रधान शकील अहमद के खाते में ₹10653 गया। 8 नवंबर 2020 को कदीर बेग के घर के सामने इनायत खान के चक से खड़ंजा तक खड़ंजा हेतु मजदूरी के लिए निकाला गया 17487 रुपए जो प्रधान शकील अहमद के खाते में गया। 18 नवंबर 2020 को चौहान बस्ती राम संभाले के घर के माइनर की पुलिया तक नाली निर्माण कार्य हेतु मटेरियल मजदूरी के लिए खारिज किया गया ₹198637 जिसमें से हरिश्चंद्र रामसुख ईट भट्ठा को दिया गया ₹84290, राधे कृष्णा हार्डवेयर को दिया गया ₹70813,  प्रधान शकील अहमद के खाते में गया ₹43534। 
18 नवंबर 2020 को जुवालीपुर चौहान बस्ती पवन के घर से मंदिर तक इंटरलॉकिंग कार्य हेतु मटेरियल मजदूरी के लिए खारिज किया गया ₹60187 जिसमें से हरिश्चंद्र रामसुख को दिया गया ₹21118, प्रधान शकील अहमद के खाते में मजदूरी का गया ₹15435, राधे कृष्णा हार्डवेयर को दिया गया ₹23634। 20 अक्टूबर 2020 को जुवालीपुर चौहान बस्ती पवन के घर से मंदिर तक इंटरलॉकिंग कार्य हेतु भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹97989 जिसमें पूरा अमाउंट इंटरलॉकिंग ईट उद्योग एंड ट्रेडर्स को दिया गया। 6 दिसंबर 2020 को जुवालीपुर मूलचंद के घर से राम सिंह के घर तक इंटरलॉकिंग कार्य हेतु मटेरियल मजदूरी भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹58993 जिसमें 23252 रुपए हरिश्चंद्र रामसुख को, 19401 रुपए राधे कृष्णा हार्डवेयर को, मजदूरी का पैसा 16340 रुपए प्रधान शकील अहमद के खाते में गया। 6 दिसंबर 2020 को ही प्राइमरी पाठशाला गणेशपुर में टाइल्स का रेट भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹92846 जिसमें राधे कृष्णा हार्डवेयर को दिया गया 11249 रुपए, शकील अहमद प्रधान के खाते में गया 4217 रुपए, राधे कृष्ण मार्बल को पुनः दिया गया 77380। 9 दिसंबर 2020 को फिर से जुवालीपुर मूलचंद के घर से राम सिंह के घर तक इंटरलॉकिंग कार्य हेतु इंटरलॉकिंग इट के लिए ₹97997 खारिज किया गया।  पूरा अमाउंट इंटरलॉकिंग ईट उद्योग एंड ट्रेडर्स को दिया गया।
16 दिसंबर 2020 को पंचायत भवन मरम्मत हेतु मटेरियल भुगतान के लिए खारिज किया गया 33411 रुपए जो कि पूरा अमाउंट राधे कृष्ण हार्डवेयर को दिया गया। 17 दिसंबर 2020 को सीआईबी बोर्ड हेतु भुगतान के लिए रु 49000 खारिज किया गया जो पूरा अमाउंट वर्षा ट्रेडर्स को दिया गया। 20 दिसंबर 2020 को जुवालीपुर चौहान बस्ती से दिलीप मौर्या के घर से गड्ढे तक नाली निर्माण कार्य हेतु भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹173646 जिसमें से हरीश चंद रामसुख को दिया गया ₹68003, राधे कृष्णा हार्डवेयर को दिया गया ₹65114, प्रधान शकील अहमद के खाते में गया ₹40029। 24 दिसंबर 2020 को डेक्स बेंच आपूर्ति के लिए खारिज किया गया ₹92389 जो कि पूरा अमाउंट आशा ट्रेडर्स को दिया गया। 24 दिसंबर 2020 को जुवालीपुर दिलशाद के घर से भाग तक खड़ंजा मरम्मत हेतु मटेरियल मजदूरी भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹81194 जिसमें से मजदूरी का पैसा शकील अहमद प्रधान के खाते में गया 40401, हरिश्चंद्र रामसुख को दिया गया 40793 रुपए। 13 फरवरी 2021 को पीपी गणेशपुर कैथौली का लाइट बिल भुगतान के लिए खारिज किया गया 7308 रुपए जो  एग्जीक्यूटिव इंजीनियर को दिया गया। 3 मार्च 2021 को पीपी मगनगंज में अतिरिक्त कक्ष के टायलीकरण कार्य के लिए खारिज किया गया ₹103373 जिसमें से राधे कृष्णा मार्बल को दिया गया ₹88613, राधे कृष्णा हार्डवेयर को दिया गया 14760। 
4 मार्च 2021 को पीपी मगनगंज में टाइल्स कार हेतु भुगतान खारिज किया गया ₹1460 जो प्रधान शकील अहमद के खाते में भेजा गया। 4 मार्च 2021 को पीपी मदनगंज में कायाकल्प के तहत टाइल्स कार्य हेतु मटेरियल मजदूरी भुगतान का भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹152872 जिसमें से राधे कृष्णा हार्डवेयर को दिया गया 146641 रुपए, प्रधान शकील अहमद के खाते में गया 6231 रुपए। 18 मार्च 2021 को खारिज किया गया ₹31500 जो प्रधान मानदेय के रूप में आशा बेगम को दिया गया। 18 मार्च 2021 को जेएचएस स्कूल में टाइल्स कार्य के लिए खारिज किया गया ₹199062 जो कि पूरा अमाउंट राधे कृष्णा हार्डवेयर को दिया गया। 18 मार्च 2021 को ही जे एच एस हाई स्कूल में टाइल्स कार हेतु भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹10632 जो प्रधान शकील अहमद के खाते में गया।

पंचायती राज वित्तीय वर्ष 2021-22

20 जुलाई 2021 को साफ सफाई एवं सैनिटाइजेशन हेतु ग्रुप में भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹19075 जो पूरा अमाउंट आशा ट्रेडर्स को दिया गया। 2 फरवरी 2022 को कमपोजिट विद्यालय गणेशपुर कैथौली में इंटरलॉकिंग कार्य हेतु भुगतान के लिए खारिज किया गया ₹294740 जो पूरा अमाउंट दिया गया राज इंटरलॉकिंग ईट उद्योग एंड ट्रेडर्स को। 2 फरवरी 2022 को फिर से कमपोजिट विद्यालय गणेशपुर कैथौली प्रांगण में इंटरलॉकिंग कार्य हेतु मटेरियल भुगतान के लिए खारिज किया गया 69142 रुपए जो कि पूरा अमाउंट राधे कृष्ण हार्डवेयर को दिया गया। 3 फरवरी 2022 को प्रधान मानदेय 7 महीने का भुगतान के रूप में खारिज किया गया । 24500 जो प्रधान शकील अहमद के खाते में गया। यह तो मात्र एक बानगी है। यदि ग्रामपंचायत में आये सम्पूर्ण धन की निष्पक्ष जांच कराई जाय तो तो ग्रामप्रधान के बड़े-बड़े कारनामे सामने आयेंगे। इस सम्बंध में जिलापंचायत राज्य अधिकारी से बात की गई तो उन्होंने कहा प्रकरण संज्ञान में नही है लेकिन यदि ऐसा है तो जांच कराकर सम्बन्धित के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जायेगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6