2

ग्रामप्रधान व सचिव की मिलीभगत से भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी मनरेगा कार्य योजना

ग्रामप्रधान व सचिव की मिलीभगत से भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी मनरेगा कार्य योजना

केएमबी खुर्शीद अहमद
 
अमेठी। विकासखंड शुकुल बाजार के अंतर्गत राजस्व ग्राम धनेशा राजपूत के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021 मई के बाद 2022 एवम 23 वित्तीय वर्ष के बीच एक इंटरलॉकिंग का निर्माण सेंट जॉन स्कूल से सुबेहा शुकुल बाजार रोड की तरफ सुरेश गिरी पुत्र गया प्रसाद गिरी के खेत तक कराया  गया था जिसका कार्य मानक एवं गुणवत्ताविहीन सामग्री द्वारा कराया गया था जिसके चलते जो इंटरलॉकिंग 5 से 10 साल तक चलनी थी वह अपने सही समय के पहले ही जर्जर होकर धराशाई हो गई। कार्य जहां से प्रारंभ किया गया था नियमतः इंटरलॉकिंग के दोनो किनारों पर मिट्टी की पटाई होनी थी लेकिन ग्राम प्रधान के लापरवाही के चलते दोनों किनारों पर मिट्टी समय पर नहीं भराई गई जिसके चलते राम बहादुर के खेत के पास इंटरलॉकिंग की पूरब दिशा की दीवार लगभग 50 मीटर तक गिर गई। मामला यहीं नहीं खत्म होता अगर देखा जाए तो ग्रामसभा धनेशा राजपूत के वर्तमान ग्रामप्रधान द्वारा जो भी कार्य ग्रामसभा के स्तर पर कराया गया वह चाहे मनरेगा कार्य योजना के अंतर्गत कराए गए सभी कार्य हों या पंचायती राज के अंतर्गत स्ट्रीट लाइट हो सभी कार्ययोजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई एवं सरकारी धन का जमकर बंदरबांट किया गया। ग्रामवासियों का कहना है कि वर्तमान ग्राम प्रधान द्वारा जो भी कार्य कराए जा रहा हैं उन सारे कार्यों में जमकर भ्रष्टाचार ग्रामप्रधान व ग्राम विकास अधिकारी की मिलीभगत से किया जा रहा है जिसके चलते ग्रामवासियों ने गुहार लगाई है कि ग्रामसभा स्तर पर जो भी कार्य हुआ है उन कार्यों को उच्च अधिकारियों द्वारा स्थलीय निरीक्षण कराया जाए ताकि ग्राम प्रधान एवं ग्राम विकास अधिकारी की काली करतूत सामने आ सके।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6