2

शासकीय महाविद्यालय कुरई में मनाया गया विजय दिवस

शासकीय महाविद्यालय कुरई में मनाया गया विजय दिवस

केएमबी नीरज डेहरिया

सिवनी। शासकीय महाविद्यालय कुरई में विजय दिवस मनाया गया। इस ऐतिहासिक दिन 16 दिसम्बर 1971 को भारतीय सेना के अद्भुत शौर्य, पराक्रम के सामने 93000 पाकिस्तानी सैनिकों ने  आत्मसमर्पण किया था। कार्यक्रम अधिकारी पंकज गहरवार ने कहा की इस युद्ध में सर्वोच्च बलिदान देने वाले सभी वीर जवानों को सादर नमन तथा सभी देशवासियों को विजय दिवस की शुभकामनाएँ। साल 1971 के युद्ध में भारत की पाकिस्तान पर जीत के फलस्वरूप पूर्वी पाकिस्तान आजाद हो गया, जो आज बांग्लादेश के नाम से जाना जाता है। महाविद्यालय में आयोजित इस कार्यक्रम में सामाजिक कार्यकर्ता व भाजपा महिला मोर्चा मंडल अध्यक्ष नीलमणि यादव ने अपनी उपस्थिति प्रदान कर सभी देशवासियों को विजय दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा की आप और हम इसीलिए खुशहाल हैं, क्योंकि सीमा पर सैनिक शहादत को तैयार हैं।  विजय दिवस के अवसर पर महाविद्यालय में तीजेश्वरी पारधी के मार्गदर्शन में पोस्टर प्रतियोगिता संपन्न हुई। पोस्टर बनाने में  महाविद्यालय की छात्रा किम्मी पराते व मोहिनी बंशकार आगे आई। कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रो. पवन सोनिक, डॉ कंचनबाला डावर, जयप्रकाश मेरावी, तीजेश्वरी पारधी का योगदान रहा। विधार्थियों में शिफा अंजुम, रेहाना खान, मनीषा भलावी, जितेंद्र मर्सकोले ने इस अवसर पर देशभक्ति से ओतप्रोत नारे लगाए। कार्यक्रम के समापन अवसर पर  प्रो. गहरवार ने कहा कि "देशभक्ति की महक, मेरे कपड़ों से आने लगी हैं, अब तो मेरी धड़कन भी, जय हिंद गाने लगी हैं"।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8


 

6