2

जरा संभल के यह मुसाफिरखाना देवरा मार्ग है, अभी क्या देखा है बारिश होने दो तालाब नजर आएगा

जरा संभल के यह मुसाफिरखाना देवरा मार्ग है, अभी क्या देखा है बारिश होने दो तालाब नजर आएगा

केएमबी जगन्नाथ मिश्र

सुल्तानपुर। यह मार्ग जो आप देख रहे हैं यह क्षेत्र का प्रमुख मार्ग है जो तहसील मुख्यालय बल्दीराय को गया है। इसी मार्ग से उप जिलाधिकारी बल्दीराय, तहसीलदार बल्दीराय, नायब तहसीलदार बल्दीराय सहित जिले के डीएम, एसपी व सीडीओ सहित कई प्रमुख अधिकारियों का आना जाना रहता है लेकिन मार्ग की दशा आप देख ही रहे हैं। यह अधिकारी कैसे आते जाते होंगे लेकिन किसी को कोई फिक्र नहीं हैं। बता दें कि पारा बाजार से बल्दीराय जानेवाला मार्ग तहसील मुख्यालय को जोड़ता है। मार्ग से तहसील को जाने वाले प्रतिदिन वादकारी इसी कीचड़ युक्त मार्ग से होकर तहसील मुख्यालय पहुंचते हैं। अभी तक तो इस भीषण गर्मी में लोग चले जाते थे और चले आते थे लेकिन विडंबना की बात यह है कि इसी मार्ग से प्रयागराज से अयोध्या जनपद को गैस प्लांट से जोड़ा गया है जिससे संबंधित कर्मचारी नियम के विपरीत गैस की पाइप लाइन सड़क से मात्र 1 फीट की दूरी पर खुदाई करवाने के पश्चात उसको नीचे डाल दिया है जबकि संबंधित फर्म से एग्रीमेंट हुआ है कि मार्ग के बीचो-बीच से 5 मीटर की दूरी पर गैस पाइप बिछाई जाए परंतु जिले के अधिकारियों की मिलीभगत से ऐसा नहीं हो पाया। शिकायत होती रही कर्मचारी मनमानी करते रहे।अब बरसात आ गई है सड़क की दशा आप देख रहे हैं। यह तो एक खेतों से बदतर है, खेतों में भी इस समय बेरन लगाने का काम तीव्र गति से चल रहा है। खेत भी बराबर दिख रहा होगा लेकिन आप सड़क देखिए तो पता चल जाएगा। एसी में बैठने वाले राजनीतिक लोग चाहे सत्ता पक्ष के हो चाहे विपक्ष के सभी ने गरीबों के साथ खिलवाड़ किया है। इस बार विधायक बनने के बाद मोहम्मद ताहिर खान इस मार्ग की दशा को विधानसभा के सदन में भी उठाया लेकिन उठाने दो सपा का विधायक भाजपा में क्या कर सकता है। क्षेत्र की जनता विगत 8 वर्षों से पारा बल्दीराय मार्ग को बनने की राह देख रही है लेकिन इस मार्ग का दुर्भाग्य है कि अभी तक बन नहीं सका और न ही बनने की उम्मीद दिखाई पड़ रही है। नेता लोग सिर्फ मीडिया में बयान दर्ज करवाते हैं लेकिन इस मार्ग के निर्माण की ओर ध्यान नहीं देते। कड़वा सत्य है कि क्या भाजपा के नेता क्या भाजपा के प्रभारी इस मार्ग के दशा को नहीं देख रहे हैं? क्या शासन स्तर तक बात नहीं पहुंच रही है? फिलहाल पारा बल्दीराय मार्ग के निर्माण न होने से क्षेत्रीय जनता में आक्रोश व्याप्त है। आए दिन इस मार्ग पर चलने वाले लोग चोटिल हो रहे हैं।यही नहीं कई लोगों की मौत भी हो चुकी है लेकिन नहीं गरीबों की मौत पर किसी से क्या वास्ता? देखना है शासन कब तक इस मार्ग का निर्माण करवाएगा?

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6