2

चर्चित फ्रेंचाइजी संचालक राहुल शर्मा की निर्मम हत्या का पुलिस ने किया खुलासा

चर्चित फ्रेंचाइजी संचालक राहुल शर्मा की निर्मम हत्या का पुलिस ने किया खुलासा

केएमबी ब्यूरो रुक्सार अहमद

सुल्तानपुर। चाँदा थाना क्षेत्र के पास छतौना कला जंगल में 28 जुलाई 2022 को राहुल शर्मा निवासी भरथीपुर थाना कोतवाली देहात जनपद सुलतानपुर का शव मिला था। मामले में थाना स्थानीय पर मु0अ0सं0 370 वर्ष 2022 धारा 364, 302, 201 भादवि0 पंजीकृत किया गया था।घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सुलतानपुर सोमेन बर्मा द्वारा घटना स्थल का निरीक्षक कर घटना के अनावरण हेतु टीमो का गठन किया गया था। अपर पुलिस अधीक्षक विपुल कुमार श्रीवास्तव पर्यवेक्षण में व क्षेत्राधिकारी लम्भुआ के नेतृत्व में थाना कोतवाली देहात पुलिस द्वारा, थाना स्थानीय पर पंजीकृत सम्बंधित अभियुक्तो को अभिसूचना तंत्र विकसित करते हुए रेलवे क्रासिंग बरसड़ा के पास से अभियुक्त पिन्टू उर्फ तेजबहादुर तिवारी पुत्र मुनिराज तिवारी निवासी ग्राम गौरा थाना चाँदा जनपद सुलतानपुर व नन्दलाल निषाद पुत्र रामअवध निषाद निवासी ग्राम छतौना कला थाना चाँदा जनपद सुलतानपुर को हिरासत में लिया गया। कडाई से पूछताछ करने पर पिन्टू उर्फ तेजबहादुर तिवारी उपरोक्त ने बताया कि भरथीपुर का रहने वाला राहुल शर्मा जो कि कामतागंज बाजार में बभनगवाँ रोड पर बैंकिंग सेवा केन्द्र का संचालन करता था, से मेरी कुछ दिनों से दोस्ती हो गयी थी। राहुल शर्मा अक्सर मेरे साथ मेरी बहन के यहाँ आया जाया करता था तथा रुकता भी था। उसके द्वारा बैंकिंग सेवा केन्द्र पर रोजाना किये जा रहे रुपयों के लेनदेन से मेरी नीयत खराब होने लगी। मैंने योजना बनाया कि क्यों न बहका करके इसकी हत्या कर रुपया लूट ले। इसी योजना के तहत मैंने अपने साथी नन्दलाल निषाद व संजय निषाद उर्फ सिपाही पुत्र सत्यनारायण निषाद निवासी ग्राम छतौना कला थाना चाँदा जनपद सुलतानपुर के साथ मिलकर बहाने से राहुल शर्मा का उसके बैंकिंग सेवा केन्द्र बभनगवाँ रोड कामतागंज से 26 जुलाई 2022 को शाम बहकाकर कामतागंज से राहुल शर्मा की मोटरसाइकिल से हम दोनों चाँदा थाना छतौना कला जंगल में एकपता बीरबाबा के मंदिर के पीछे बाँध के पास पहुँचे जहाँ पर नन्दलाल निषाद व संजय निषाद उर्फ सिपाही जो शराब लेकर पहले से मौजूद थे। अभियुक्त ने बताया कि उसने शराब कम पी किन्तु राहुल शर्मा को अधिक पिलाया। जब वह अत्यधिक नशे में हो गया तो हम तीनों ने मिलकर बेल्ट व गमछे से उसका गला घोटकर राहुल शर्मा की हत्या कर दिया और उसके पास मौजूद 9000 रुपये तथा दोनों मोबाइल ले लिये। रुपयों को हम तीनों ने बाद में बराबर बराबर आपस में बाँट लिया। राहुल शर्मा की हत्या करने के बाद हम तीनों मौके से भाग निकले उसके बाद अलग-अलग हो गये। राहुल शर्मा की मो0सा0 तथा उसकी दोनों मोबाइल उसी रात में ही सुलतानपुर से आगे लखनऊ रोड पर स्थित असरोगा टोल प्लाजा के निकट एक चाय की दुकान के पास चाभी सहित खड़ी करके उसके दोनों मोबाइल फोन उसकी मो0सा0 की डिग्गी में रखकर, इसलिए मौके से फरार हो गया कि लालच में आकर कोई व्यक्ति राहुल शर्मा की मो0सा0 व मोबाइल पा जाएगा तो राहुल शर्मा की हत्या के जुर्म में फँस जाएगा और हम लोग साफ-साफ बच जायेंगे। अभियुक्त पिन्टू ने बताया कि ये जो 1800 रुपये बरामद किया गया है वह राहुल शर्मा की हत्या उपरान्त मिले 9000 रुपये में मुझे बटवारे में मिले तीन हजार रुपये में से खर्च के बाद बचे हुए रुपये हैं तथा अभियुक्त नन्दलाल निषाद के पास से 1300 रुपये बरामद हुए। गिरफ्तारसुदा अभियुक्तों की जेल भेजने की कार्यवाही अमल में लायी जा रही है। इस अभियान को सफल बनाने में प्र0नि0 शिवाकान्त त्रिपाठी थाना कोतवाली देहात, उ0नि0 यादवेन्द्र सोनकर, का0 अक्षय शुक्ला, का0 बसंत पासवान का0 वीरेन्द्र का अहम योगदान रहा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8

6