2

पुलिस कस्टडी में हुई मौत के 24 घण्टे के बाद पत्रकार दिनेश का हुआ पोस्टमार्टम

पुलिस कस्टडी में हुई मौत के 24 घण्टे के बाद पत्रकार दिनेश का हुआ पोस्टमार्टम

केएमबी ब्यूरो रुखसार अहमद
सुल्तानपुर/अमेठी। बीते बृहस्पतिवार पड़ोसी जनपद अमेठी जिले के गौरीगंज में स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा ब्रांच में एक महिला के साथ 50 हजार रुपये की टप्पेबाजी का मामला सामने आया था। वही इस टप्पेबाजी में शक के आधार पर पुलिस ने सुल्तानपुर जिले के धंमौर थाना क्षेत्र के रहने वाले पत्रकार दिनेश मिश्रा के घर मे गौरीगंज व धंमौर पुलिस की संयुक्त टीम ने दबिश दी थी। मृतक परिवार के परिजनों की माने तो पत्रकार दिनेश मिश्रा पुलिस वालों से कहते रहे, मैंने पैसा नही लिया है और सुबह मैं थाने पर आ जाऊंगा। इसी बीच पुलिस और मृतक दिनेश के बीच हाथापाई तक मामला पहुच गया और दिनेश छत से नीचे कूद गया जिससे उसे गम्भीर चोटे भी आ गई। बावजूद इसके पुलिस उसे जबरन उठा ले गयी। वही पुलिस दिनेश का इलाज सुल्तानपुर जनपद के जिला अस्पताल में न करवाकर गौरीगंज लेकर गयी। जहाँ सुबह दिनेश की मौत की खबर सामने आई, वही दिनेश की मौत की खबर सुनते ही लोगो मे तरह तरह के सवाल उठने लगे।सवाल उठना भी लाजमी है।  सबसे बड़ा सवाल यह है कि पुलिस बिना एफआईआर दर्ज किए ही दबिश मारने आ धमकी थी, पुलिस अपने बुने जाल में ही फसती नजर आ रही है। अगर एफआईआर की बात करे तो पत्रकार की मौत के लगभग 5घण्टे बाद दर्ज हुई है एफआईआर, वही सूत्र बताते है कि पुलिस ने एफआईआर में भी किया है खेल। तहरीर के मुताबिक एफआईआर नही दर्ज है। अब देखना है अमेठी पुलिस कप्तान क्या इन लापरवाह पुलिस कर्मियो पर कार्यवाही करते है या अपने मातहतों को बचाते नजर आते है। यह तो आने वाला समय ही बताएगा। फिलहाल अभी तो मृतक परिवार के परिजन पत्रकार दिनेश मिश्रा की आखिरी झलक को परेशान है। मृतका पत्रकार दिनेश के बारे में थानाध्यक्ष गौरीगंज से ताजा अपडेट ली गई तो उन्होंने बताया मृतक का पोस्टमार्टम कराकर आज शनिवार को लाश परिजनों को सौंप दी गई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6