2

सीएचसी जामो पर बीमार का इलाज तो दूर मरीज को स्ट्रेचर भी नहीं होता नसीब

सीएचसी जामो पर बीमार का इलाज तो दूर मरीज को स्ट्रेचर भी नहीं नसीब

केएमबी खुर्शीद अहमद

अमेठी। एक तरफ जहां प्रदेश की योगी सरकार स्वास्थ्य सेवाओं का बखान करते नहीं चूक रही है तो वहीं दूसरी तरफ सरकारी अस्पतालों में अव्यवस्थाओं का बोलबाला नजर आ रहा है। प्रदेश के डिप्टी सीएम एवं स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक द्वारा ताबड़तोड़ प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में निरीक्षण किए जा रहे हैं। इसके बाद भी स्वास्थ्य व्यवस्था में खामियां ही खामियां नजर आ रही हैं। ताजा मामला जिले के जामो सरकारी अस्पताल का है जहां स्वास्थ सेवाएं धड़ाम हो गई है। यहां इमरजेंसी में इलाज के लिए आने वाले मरीजों को चिकित्सक एवं इलाज की बात तो दूर स्टेचर भी नसीब नहीं हो रहा है। तीमारदार गंभीर हालत में मरीज को अपनी गोद में लेकर जा रहा है। चिकित्सक, वार्ड बॉय, स्वीपर, स्टाफ नर्स मौके पर कोई नहीं है। महज फार्मासिस्ट ही अस्पताल में मौके पर मौजूद है। ऐसी तस्वीरें यूपी स्वास्थ विभाग की लाचारी बयां कर रही है। यह हाल केवल जिले की जामो सीएचसी का नहीं है बल्कि जिले के हर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का कमोबेश यही हाल है। ऐसे में इन सरकारी अस्पतालों में गरीब के लिए बेहतर इलाज की अपेक्षा करना बेमानी है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6