विज्ञापन लगवायें

अपना विज्ञापन हमें भेजें व्हाट्सएप नं० 9415968722 पर

1 / 5
2 / 5
3 / 5
4 / 5
5 / 5

पुलिस को चकमा देते हुए सितंबर 2020 से फरार आईपीएस ने न्यायालय में किया आत्मसमर्पण

पुलिस को चकमा देते हुए सितंबर 2020 से फरार आईपीएस ने न्यायालय में किया आत्मसमर्पण

केएमबी रुखसार अहमद
लखनऊ। 9 सितंबर 2020 फरार चल रहे आईपीएस पाटीदार ने लखनऊ की एक अदालत में आत्मसमर्पण किया। महोबा के एक व्यापारी से छह लाख रुपये की रिश्वत मांगने के आरोपी आईपीएस मणिलाल पाटीदार ने शनिवार को लखनऊ कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया। बाद में व्यापारी की संदिग्ध परिस्थितियों में गोली लगने से मौत हो गई थी, जिसके बाद इन्हें निलंबित कर दिया गया था। घटना के समय मणिलाल पाटीदार महोबा के पुलिस अधीक्षक के पद पर तैनात थे तब उन्हें भ्रष्टाचार के एक मामले में निलंबित कर दिया गया था। आईपीएस पाटीदार ने महोबा के एक खनन व्यापारी से छह लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। उन्हें 9 सितंबर 2020 को निलंबित किया गया था तब से वह फरार चल रहे थे। विदित रहे कि महोबा के खनन व्यापारी इंद्रकांत त्रिपाठी ने तत्कालीन पुलिस अधीक्षक पाटीदार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे, जिसकी प्रक्रिया में महोबा पुलिस ने खनन व्यवसाई के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर दिया। बाद में 9 सितंबर 2020 को संदिग्ध परिस्थितियों में खनन व्यवसाय इंद्र कांत त्रिपाठी की गोली लगने से मौत हो गई। इसके बाद से ही आईपीएस अफसर पाटीदार फरार चल रहे थे।पाटीदार के आत्मसमर्पण की भनक पुलिस एवं उसकी एजेंसियों तक दूर दूर तक नहीं लगी। पुलिस एवं उसकी एजेंसियों को चकमा देते हुए मणिलाल पाटीदार ने न्यायालय में आत्मसमर्पण करने में सफल रहे।
और नया पुराने

Ads

Click on image to Read E-Paper

Read and Download Daily E-Paper (Free) Click Here👆

نموذج الاتصال