2

17 नवंबर 2022 को जन्मी कन्याओं का जिला महिला चिकित्सालय में मनाया गया जन्मोत्सव

17 नवंबर 2022 को जन्मी कन्याओं का जिला महिला चिकित्सालय में मनाया गया जन्मोत्सव

केएमबी रुखसार अहमद
 सुलतानपुर। जिलाधिकारी रवीश गुप्ता के कुशल निर्देशन में शुक्रवार को डॉ0 लक्ष्मण सिंह, प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी एवं डॉ0 वी0के0 सोनकर, मुख्य चिकित्सा अधीक्षिक, जिला महिला चिकित्सालय सुलतानपुर की संयुक्त अध्यक्षता में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजनान्तर्गत कन्या जन्मोत्सव कार्यक्रम का आयोजन जिला महिला चिकित्सालय सुलतानपुर में किया गया, जिसमें दिनांक-17 नवंबर 2022 को जन्मी 22 नवजात कन्याओं का जन्मोत्सव केक काट कर मनाया गया एवं उनके माता-पिता को बेबी किट, कपडे़, बधाई पत्र, मिष्ठान व फलदार पौध देकर प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी वी0के0 सोनकर, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक एवं वी0पी0वर्मा जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा सम्मानित किया गया। प्रभारी मुख्य चिकित्साधिकारी अधिकारी द्वारा कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उपस्थित लोगों को देश के घटते हुए लिंगानुपात पर चिंता व्यक्त की और उपस्थित लोगों से कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगाने हेतु अपील की गयी। बेटे एवं बेटियों में भेद-भाव कदापी न करें, दोनों को समान अवसर देने की जरूरत है। कन्या जन्मोत्सव मनाये जाने का आशय यह है कि समाज में एक संदेश जाये जिससे लोगों की मानसिकता में बदलाव आये। वी0के0 सोनकर, मुख्य चिकित्सा अधीक्षिक द्वारा यह बताया गया कि जन्मी बालिका शिशुओं का कन्या सुमंगला योजना अन्तर्गत आवेदन कराने की प्रक्रिया की कार्यवाही सम्बन्धित से कराने हेतु निर्देशित किया गया है जिसमें से सात पात्र बालिकाओं के आवेदन की कार्यवाही पूर्ण कर ली गयी है एवं जननी सुरक्षा योजना एवं प्रधानमंत्री मातृवंदना योजना के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी दी गयी। जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा ‘‘बेटी नहीं है किसी से कम मिटा दो सारे भ्रम‘‘ के स्लोगन से शुरूवात करते हुए उ0प्र0 सरकार द्वारा संचालित मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के बारे में विस्तार पूर्वक बताया गया कि इस योजना का मुख्य उद्देश्य कन्या भू्रण हत्या को समाप्त करना, समान लैंगिक अनुपात स्थापित करना, बाल विहाह की कुप्रथा को रोकना, बालिकाओं के स्वास्थ्य व शिक्षा को प्रोत्साहन देना, बालिकाओं को स्वावलंबी बनाने में सहायत प्रदान करना, बालिका के जन्म के प्रति समाज में सकारात्मक सोच विकसित करना एवं महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित समस्त योजनाओं यथा पति की मृत्योंपरान्त निराश्रित महिला पेंशन, निराश्रित महिला पुनर्विवाह दम्पत्ति पुरस्कार, निराश्रित महिला, पुत्री की शादी अनुदान योजना, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, रानी लक्ष्मीबाई महिला एंव बाल सम्मान कोष, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना कोविड-19 व सामान्य एवं सखी वन स्टाप सेंटर योजना के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। इस अवसर पर जिला महिला चिकित्सालय के लगभग समस्त स्टाप एवं अन्य स्टाप सहित बाल कल्याण समिति सुलतानपुर से शिव मूर्ति पाण्डेय, ममता मिश्रा, सरिता यादव, ओम प्रकाश तिवारी, रेखा गुप्ता, महिला कल्याण अधिकारी, सीता सिंह, केन्द्र प्रबंधक, सरोज यादव, संतोष पाल, जिला समन्वयक एवं जनपद के सम्मानित मीडिया बन्धु भी उपस्थित रहें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8

6