2

राष्ट्रीय लोक अदालत के दौरान जनपद में निपटाये गये 36522 वाद

राष्ट्रीय लोक अदालत के दौरान जनपद में निपटाये गये 36522 वाद

केएमबी कर्मराज द्विवेदी

 सुलतानपुर। सर्वाेच्च न्यायालय नई दिल्ली एवं राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के निर्देशानुसार जनपद न्यायाधीश जय प्रकाश पाण्डेय की अध्यक्षता में शनिवार को प्रातः 10 से राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया, जिसका उद्घाटन जनपद न्यायाधीश द्वारा प्रातः 10ः30 से मीटिंग हाल में दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया।उक्त के अतिरिक्त समस्त पीठासीन अधिकारियों द्वारा अपने-अपने न्यायालय में नियत किये गये वादों को निस्तारित किया गया। जनपद में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में जनपद न्यायाधीश द्वारा 02 वाद, इसके अतिरिक्त परिवार न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश महेन्द्र सिंह तृतीय एवं अपर प्रधान न्यायाधीश, मधू गुप्ता, नीलिमा सिंह द्वारा कुल 132 वैवाहिक वादों को जरिये सुलह समझौता निस्तारित किया गया। राकेश कुमार त्रिपाठी चेयरमैन मोटर, मोटर एक्सीडेन्ट क्लेम पेटीशन द्वारा 32 वाद मोटर दुर्घटना क्लेम पेटीशन सम्बन्धी निस्तारित किया गया। इस लोक अदालत में अपर जनपद न्यायाधीशगण, प्रथम अपर जनपद न्यायाधीश इन्तेखाब आलम द्वारा कुल 01 वाद, नवनीत गिरी द्वारा 04 वाद, पवन कुमार शर्मा द्वारा 02 वाद, राजेश नरायन मणि त्रिपाठी द्वारा 87 वाद, अंकुर शर्मा द्वारा 03 वाद, अभिषेक सिन्हा द्वारा 05 वाद तथा इसके अतिरिक्त बैंक से सम्बन्धित उपरोक्त समस्त अपर जनपद न्यायाधीश द्वारा कुल 2116 प्रीलिटिगेशन वादों को निस्तारित कराया गया, जिसमें बैंकों के ऋण सम्बन्धी वादों में मु0 118698878 का समझौता किया गया तथा वैवाहिक सम्बन्धी प्रीलिटिगेशन के 12 वादों को निस्तारित किया गया। जनपद न्यायाधीश के साथ नोडल आफिसर राष्ट्रीय लोक अदालत एवं एडीजे टी0एन0 पासवान द्वारा भ्रमण कर दीवानी न्यायालय में वाद कार्यों, बैंक कर्मियों की समस्याओं को सुना गया। उपरोक्त के अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रचना सिंह द्वारा 1247 वाद, सिविल जज प्रवर खण्ड, किरण गोड़ द्वारा 26 वाद एवं अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सपना त्रिपाठी द्वारा 485 वाद, योगेश कुमार यादव, अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा 398 वाद, साईमा जर्रार आलम द्वारा 512 वाद, क्षितीश पाण्डेय सिविल जज (प्रवर खण्ड) एफटीसी द्वारा 29 वाद, शालीन मिश्रा, सिविल जज अवर खण्ड दक्षिणी द्वारा 28 वाद, अपर प्रसाद, सिविल जज अवर खण्ड मुसाफिरखाना द्वारा 171 वाद, अमित सिंह सिविल जज अपर खण्ड उत्तरी द्वारा 11 वाद, नमितेश गुप्ता, सिविल जज कादीपुर द्वारा 116 वाद एवं अरूण कुमार श्रीवास्तव विशेष न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा धारा 138 एन0आई0 एक्ट के 12 वाद निस्तारित किये गये। इसके अतिरिक्त समस्त पीठासीन अधिकारियों द्वारा अपने-अपने न्यायालय में वाद निस्तारित किये गये है। उपरोक्त के अतिरिक्त कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी रवीश गुप्ता एवं उनके अधीन कार्यरत समस्त पीठासीन अधिकारियों द्वारा 21141 वाद तथा जिलाधिकारी अमेठी एवं उनके अधीन कार्यरत समस्त पीठासीन अधिकारियों द्वारा 9264 वाद निस्तारित कराये गये।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8

6