2

राजेश मसाला ने मुगलों द्वारा खंडित मंदिर की मरम्मत के लिए दिया 51हजार का सहयोग

राजेश मसाला ने मुगलों द्वारा खंडित मंदिर की मरम्मत के लिए दिया 51हजार का सहयोग

केएमबी खुर्शीद अहमद

अमेठी। जिला पंचायत के अध्यक्ष समाजसेवी भारत सरकार के बीओटी के सदस्य राजेश अग्रहरि ने आज मुगलों द्वारा खंडित मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए 51हजार रूपये की आर्थिक मदद की।मान्यताओं के आधार पर नर्वदेश्वर बिलेश्वर महादेव मंदिर ग्राम सभा दही बारा कृष्णानगर जामो अमेठी में यह शिव मंदिर अत्यन्त प्राचीन है यहां पर करीब 2 किलो मीटर की परिधि में भीटा है जहाँ पर खुदाई करने के बाद कटी, टूटी फूटी मूर्तियाँ मिलती है। लोगों की मान्यता है कि कभी किसी समय में यहाँ किसी राजा की रियासत थी जिसकी चोटी पर जलने वाला दीपक दिल्ली तक दिखाई देता था आज भी बड़ी मात्रा में यहाँ जब भी खुदाई होती है यहाँ टूटी-फूटी मूर्तिया मिलती है। जो अधिकाशल्यः मंदिर परिशर में रखी हुई है। लोगों का कहना है भोले बाबा के दरबार में जो भी भक्त अपनी  मन्नत लेकर आता हैं बिल्लेश्वर महादेव  उसकी मनोकामना पूर्ण करते हैं। उसका एक उदाहरण विधान सभा चुनाव में विधायक सुरेश पासी ने इसी मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद प्रचार-प्रसार किया और विधायक बनें। बताया जाता है कि मुगल शासक औरंगजेब ने इस मंदिर को तहस-नहस कर दिया था। राजेश मसाला ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वह धार्मिक विचारधारा के व्यक्ति हैं और धर्म में आस्था रखते हैं क्षेत्र के लोग इस मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए हर प्रयास कर रहे हैं उनके पास भी आए थे मुझे लगा इस धार्मिक स्थल का विकास जरूरी है इसका जीर्णोद्धार होना चाहिए अपने माता पिता की याद में उन्होंने आज ₹51000 की आर्थिक मदद की है। राजेश आए दिन ऐसे धार्मिक कार्यों के लिए आगे आते रहते हैं उन्होंने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 1करोड 25 लाख रुपए का भी सहयोग किया था यही नहीं राजेश कालिकन भवानी धाम संग्रामपुर और और अवोहरवन भवानी धाम के विकास के लिए भी लगातार प्रयासरत है उन्होंने अभी हाल ही में कालिकन भवानी का दौरा करते हुए कहा था की जरूरत पड़ी तो अपने निजी फंड से भी यहां के विकास के लिए खर्च करेंगे कालिकन भवानी में इनके द्वारा अमृत सरोवर के सुंदरीकरण का काम कराया जा रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8

6