2

धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाई गई वीरांगना झलकारी बाई की जयंती

धूमधाम एवं हर्षोल्लास के साथ मनाई गई वीरांगना झलकारी बाई की जयंती

केएमबी ब्यूरो रानू शुक्ला
  
बांदा। वीरांगना झलकारी बाई जागृति मिशन चित्रकूट धाम मंडल बांदा के तत्वाधान में शंकर नगर मोहल्ले के कमला भवन सभागार में प्रथम स्वतंत्रता संग्राम 1857 की अमर सेनानी वीरांगना झलकारी बाई की जयंती समारोह बड़े धूमधाम और हर्ष उल्लास के साथ मनाई गई। सर्वप्रथम कार्यक्रम का शुभारंभ मिशन की संरक्षिका कमला देवी कुटार ने झलकारी बाई के चित्र के साथ झलकारी बाई की झांकी पर पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्वलित किया। जिलाध्यक्ष देवेंद्र कुमार भारती ने अपने उद्बोधन में झलकारी बाई के जीवन में प्रकाश डालते हुए बताया की झलकारी बाई का जन्म 22 नंबर 1830 ई० में झांसी के पास भोजला ग्राम में हुआ था। झलकारी बाई रानी लक्ष्मी बाई की महिला नियमित सेना में दुर्गा दल की सेनापति रही और 1857 की क्रांति में रानी लक्ष्मीबाई के साथ कंधे से कंधा मिलाकर ब्रिटिश सेना के सामने वीरता के साथ युद्ध में ब्रिटिश हमलों को विफल करते हुए अपने पराक्रम का परिचय दिया। भारत सरकार ने 22 जुलाई 2001 को झलकारी बाई के सम्मान में एक डाक टिकट जारी करते हुए झलकारी बाई जी का सम्मान बढ़ाने का काम किया जयंती समारोह में समारोह में योगेंद्र कुमार कोटार्य एडवोकेट, धीरेंद्र नाथ, रामकृष्ण, राहुल त्रिपाठी, प्रतिभा भारती, कमलेश कुमारी, सुमन देवी, रितु देवी, ममता देवी, आरती, कविता, राधा, सत्यप्रकाश, अशोक, सूर्य प्रकाश, भानु प्रकाश भारतीय, प्रांसी, अमन चौरसिया, आशीष कबीर, अभिषेक यादव, विकास शुक्ला, मयंक शुक्ला, राजेश कबीर, रश्मि भारती आदि लोग उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8

6