2

शासकीय महाविद्यालय कुरई में ब्यूटी पार्लर प्रशिक्षण की हुई शुरूआत

शासकीय महाविद्यालय कुरई में ब्यूटी पार्लर प्रशिक्षण की हुई शुरूआत

केएमबी नीरज डेहरिया
 
सिवनी। शासकीय महाविद्यालय कुरई में स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ के तत्वाधान में छात्राओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए निःशुल्क ब्यूटी पार्लर प्रशिक्षण की शुरूआत हुई।  प्रशिक्षण कार्यक्रम में ब्यूटी पार्लर संचालिका श्रीमति नीलमणि यादव ने प्रशिक्षण दिया। तत्पश्चात कार्यक्रम प्रभारी व टी.पी.ओ. पंकज गहरवार ने ब्यूटीशियन श्रीमति नीलमणि यादव का परिचय व स्वागत छात्राओं से करवाया। श्रीमति तीजेश्वरी पारधी ने ब्यूटीशियन श्रीमति नीलमणि यादव का स्वागत करते हुए कहा कि सभी विद्यार्थी इस प्रशिक्षण को पूरे मनोयोग व उत्साह से लें और जीवन में आत्मनिर्भर बने। इस स्वागत उद्भोदन के पश्चात् ब्यूटीशियन श्रीमति नीलमणि यादव ने प्रशिक्षण देते हुए छात्राओं को बताया कि ब्यूटीशियन बनने के लिए आपको प्रशिक्षण से लेकर अच्छी रूचि और अपने को अपडेट रखने की जरूरत पडेगी। ब्यूटीशियन को सामने वाले के हिसाब से सजाने संवारने का जितना अनुभव होगा उसका काम ओर नाम उतना होगा। ब्यूटी पार्लर में ग्राहक थ्रेडिंग, ब्लीच, फेशियल, फेसपेक, हेड मसाज, हेयर स्टाईल, कलर व कटिंग, शेम्पू, मेंहदीं, नेलकेयर, इसी तरह के काम के लिए आते है। ब्यूटीपार्लर खोलने के लिए एक दुकान होना चाहिए। दुकान दो कमरों की हो। ग्राहकों को सजाने संवारने वाले कमरे में पर्दा हो तो अच्छा है। ब्यूटी पार्लर खोलने के लिए जरूरी समान कुर्सिया, दीवारों के लिए शीशे, थ्रेडिंग धागा, थ्रेड कैंची, नेल कटर, कटिंग कैंची, हेयर ड्रायर, हेयर मिकसर, वैक्स हीटर, मसाजर, हाइड्रोजन, फाउंडेशन, आईलाईनर, मसकारा, गुलाब जल इत्यादि सामग्री को होना जरूरी है। इस दौरान प्रशिक्षिका श्रीमति नीलमणि यादव ने विद्यार्थियों को प्रायोगिक तौर पर थ्रेडिंग व फेशियल करते हुए उनके सुन्दर लुक के प्रति जागरूक किया। इस दौरान महाविद्यालय स्टाॅफ से डाॅ0 कंचनबाला डावर कहा कि ब्यूटीपार्लर के जरिए चमकते भविष्य की नींव रखी जा सकती है। प्रशिक्षण को सफलता पूर्वक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों में शिफा अंजुम, दुर्गा गिरि, रेहाना खान, किम्मी पराते, पूजा डोंगरे, निकिता नागवंशी, मनीषा भलावी इत्यादि विद्यार्थी रहें। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम को सफल बनाने में स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन प्रकोष्ठ से जुडे कॅरियर मित्र रोहित मरकाम, शैलेष भलावी, जितेन्द्र मर्सकोले का विशेष योगदान रहा। कार्यक्रम के अंत में प्रो0 गहरवार ने प्रशिक्षिका श्रीमति नीलमणि यादव का आभार प्रदर्शन करते हुए कहा कि भारत के प्रशिक्षित ब्यूटीशियन की मांग दुनियाभर में बहुत है। इस क्षेत्र को स्वरोजगार के रूप में अपनाकर हम आत्मनिर्भर हो सकते है। प्रशिक्षण को पाकर छात्राओं के चेहरे खुशी से खिल उठें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8


 

6