2

खरमास में सामूहिक विवाह करने की थी तैयारी, खबर चलने के बाद बदली विवाह की तिथि

खरमास में सामूहिक विवाह करने की थी तैयारी, खबर चलने के बाद बदली विवाह की तिथि

केएमबी जगन्नाथ मिश्रा

बल्दीराय, सुलतानपुर। गरीब कन्याओं की शादियों के लिए सरकार द्वारा ब्लॉक मुख्यालय व जिले स्तर पर समय समय पर सामूहिक विवाह का आयोजन किया जाता है। इसके लिए स्पष्ट निर्देश है कि पंडित से शुभ मुहूर्त देखकर उन्ही तिथियों में विवाह का आयोजन किया जाय लेकिन बल्दीराय ब्लॉक में इसका पालन न करके खरमास में सामूहिक विवाह का आयोजन शुक्रवार को होना निश्चित किया गया था। आयोजन में हिन्दू रीति रिवाज से विधिवत पूजन कराकर आचार्यों द्वारा सामुहिक विवाह सम्पन्न कराए जाते हैं। शुक्रवार को बल्दीराय ब्लॉक मुख्यालय पर 130 गरीब वर्ग के जोड़ों का सामूहिक विवाह करवाया जा रहा है। अक्सर तो होलिका दहन के दूसरे दिन से ही खरमास लग जाता था जिनमे शुभ मांगलिक कार्य नही होते थे। लेकिन इस बार होली के बाद भी 14मार्च मंगलवार तक वैवाहिक कार्यक्रम सम्पन्न हुए। इसके बाद खरमास माना जा रहा है। क्षेत्र के उसकामऊ निवासी आचार्य पंडित माताबदल शास्त्री कहते हैं कि 15 मार्च को सुबह 8 बजकर 20 मिनट से सूर्य मीन राशि मे प्रवेश कर गए हैं जिससे अब शादी विवाह, मुण्डन छेदन आदि मांगलिक कार्य इसमे नही किये जाते हैं। ऐसा किया जाना अशुभ माना जाता है। खरमास में विवाह आयोजन करने की न्यूज़ सोशल मीडिया पर जब वायरल हुई तो प्रशासनिक अमला हलकान हो गया। इस संबंध में खण्ड विकास अधिकारी सत्य नारायण सिंह ने बताया कि जिले स्तर से 17 मार्च को सामूहिक विवाह करवाने के लिए तिथि निर्धारित की गई है।उन्होंने बताया कि अब खरमास के बाद सामूहिक विवाह की तिथि घोषित होगी।
expr:data-identifier='data:post.id'

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8


 

6