2

झटका मशीन से होगी फसल की सुरक्षा फसल से कोसों दूर भागेंगे जंगली जानवर

झटका मशीन से होगी फसल की सुरक्षा फसल से कोसों दूर भागेंगे जंगली जानवर

केएमबी गणेश तिवारी

सुल्तानपुर। कादीपुर तहसील के करौंदी कला विकास खण्ड के बांगर कला ग्राम सभा में जय ज्ञान एग्री जंक्शन फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड (एफपीओ) जय ज्ञान नगर उनुरखा, अखंड नगर द्वारा प्रगतिशील किसान चंद्रदेव मिश्रा ने अपनी फसल की सुरक्षा के लिए झटका मशीन (फसल सुरक्षा कवच) का प्रयोग कर अपनी फसल सुरक्षा का उपाय किया है। प्रगतिशील किसान चंद्रदेव मिश्रा ने बताया कि उनकी खड़ी फसल में जंगली जानवर और छुट्टा जानवरों का प्रकोप इतना है कि फसल का जमाव जैसे हुआ तुरन्त से ही जानवर नुकसान पहुंचाना शुरू कर देते हैं जिसके लिए झटका मशीन बहुत ही बहुपयोगी यन्त्र है। जय ज्ञान एग्री जंक्शन फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी लिमिटेड (एफपीओ) जय ज्ञान नगर उनुरखा, अखंड नगर के डायरेक्टर और कृषि विशेषज्ञ ज्ञानचन्द्र तिवारी ने बताया कि किसानों को अब जंगली जानवर और छुट्टा जानवर के लिए रात भर जगना नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि किसान अपनी आय दुगुनी करने के उद्देश्य से दिन रात मेहनत करता है। एक तरफ प्रकृति की मार से नुकसान उठता है। कभी बाढ़, कभी सूखा तो कभी अन्य नई-नई समस्या तो उसी में सबसे बड़ी समस्या है जंगली जानवर और छुट्टा जानवर से फसलों का नुकसान जिसके लिए झटका मशीन बहुत ही उपयोगी यंत्र है जिसे फसल सुरक्षा कवच के नाम से जाना जाता है। उन्होंने कहा कि एक हैक्टेयर क्षेत्र में झटका मशीन का खर्च लगभग पन्द्रह हजार आ जाता है जो सामान्य किसान के लिए बहुत बड़ा खर्च होता है जिसका खर्च किसान नहीं उठा पाते और अपनी फसल नहीं बचा पाते। उन्होंने कहा कि जिस तरह सरकार कृषि के अन्य यंत्रों पर किसानों को अनुदान प्रदान करती है उसी तरह अगर झटका मशीन यानी फसल सुरक्षा कवच पर फसल की सुरक्षा के लिए सरकार किसानों को अनुदान प्रदान करे तो निश्चित ही किसानों की आय दुगुनी हो सकेगी क्योंकि किसान दिन रात मेहनत करके अपनी फसल की सुरक्षा करता है लेकिन जंगली जानवर और छुट्टा जानवर के आगे किसान घुटने टेक देता है। कभी कभी किसान अपने खेत में फसल की निराई गुड़ाई या कटाई कर रहा होता है तो फसल में बैठा जंगली जानवर किसान पर जानलेवा हमला कर देता है जिससे किसान को गहरी चोट आ जाती है और कभी कभी किसान की जान भी चली जाती है। ऎसे में झटका मशीन पर अगर सरकार किसानों को अनुदान प्रदान करने लगे तो किसान के लिए सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम किसान के लिए वरदान साबित होगा और फसल उत्पादन बढ़ेगा जिससे किसान की आय दुगुनी होगी। जय ज्ञान एग्री जंक्शन एफपीओ के डायरेक्टर अभिषेक पांडेय ने बताया कि झटका मशीन यानी फसल सुरक्षा कवच को लगाने के लिए पहले खेत के चारो तरफ बल्ली या सीमेंट के पोल या लोहे के एंगल लगाए जाते हैं फिर पोल में तीन से चार लेयर क्लच वायर इन्सुलेटर की सहायता से घेराबन्दी की जाती है फिर तार के छोर को मशीन से जोड़ दिया जाता है। इसके बाद मशीन चालू कर दी जाती है। अब अगर जंगली जानवर या छुट्टा जानवर खेत में जाने का प्रयास करते हैं और जैसे ही तार को टच करते हैं तुरन्त उन्हें डीसी करेंट लगता है जिससे उनके मस्तिष्क को सूचना मिल जाती है कि यहां खतरा है और वो वहां से भाग जाते हैं और मशीन में लगा हूटर बजने लगता है जिससे किसान को पता चल जाता है कि खेत में कोई जानवर आ गया है। उन्होंने बताया कि झटका मशीन के करेंट से किसी भी जानवर को जान का खतरा नहीं होता इसी लिए बहुत उपयोगी यन्त्र है। झटका मशीन (फसल सुरक्षा कवच) जो किसान की आय दुगुनी करने में बहुत  सहायक है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6