2

फर्जी दस्तावेज लगाकर नौकरी करने वाले आरोपी 3 शिक्षक बर्खास्त

फर्जी दस्तावेज लगाकर नौकरी करने वाले आरोपी 3 शिक्षक बर्खास्त

केएमबी बिरेंद्र कुमार श्रीवास्तव

देवरिया। परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में फर्जी दस्तावेज पर नौकरी करने वाले 3 शिक्षकों को बर्खास्त किया गया है। आरोप है कि तीनों शिक्षकों ने शिक्षक की नौकरी पाने के लिए जाली दस्तावेज का इस्तेमाल किया।आरोप है कि इसमें किसी का बीएड का जाली अंकपत्र है तो किसी ने फर्जी टीईटी अंकपत्र का प्रयोग किया है। तहरीर देने के 5 दिन बाद भी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। पुलिस का कहना है की जांच के बाद मामले में कार्यवाही होगी। प्राथमिक विद्यालय नारायणपुर में कार्यरत खामपार थाना के चकवा खुर्द निवासी सहायक अध्यापक लल्लन यादव का टीईटी अंक पत्र फर्जी पाया गया है। इकौना थाना में इनके के विरुद्ध मुकदमे की कार्रवाई के लिए खंड शिक्षा अधिकारी जयाराम ने तहरीर दी है। प्राथमिक विद्यालय समोगर द्वितीय में तैनात रहे शिक्षक चंद्र भूषण यादव को फर्जी अंकपत्र पर नौकरी पाने का दोषी पाया गया है। इनके विरुद्ध मदनपुर थाने में मुकदमे की कार्यवाही के लिए खंड शिक्षा अधिकारी सुदामा ने तहरीर दी है। शिक्षक ऋषिकेश कुमार प्राथमिक विद्यालय खपढ़वा में सेवारत हैं, यह भटनी थाना क्षेत्र के पिपरा दीक्षित के निवासी है। इनका बीएड प्रमाण पत्र जाली मिला है। बैतालपुर खंड शिक्षा अधिकारी नवनीत चौबे ने बताया कि संबंधित शिक्षक के विरुद्ध गौरी बाजार थाने में तहरीर दी गई है। पुलिस का कहना है कि आरोपी शिक्षकों के मामले में जांच कर आवश्यक तथ्य जुटाए जा रहे हैं। शीघ्र ही मुकदमा दर्ज कर लिया जाएगा। उत्तर प्रदेश शासन द्वारा बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जी शिक्षकों के सेवा में होने को लेकर जांच चल रही है। अलग-अलग जिलों में फर्जी शिक्षक पाए जा रहे हैं। मानव संपदा पोर्टल पर शिक्षकों को अपने शैक्षिक प्रमाणपत्रों की जानकारी देनी है। फर्जी शिक्षक मानव संपदा पोर्टल पर अपने शैक्षिक प्रमाणपत्रों की जानकारी देने से कतरा रहे हैं। बार-बार जवाब मांगने पर भी शिक्षक अपने शैक्षिक प्रमाणपत्रों का सत्यापन नहीं करा रहे हैं। ऐसे शिक्षकों के प्रमाण पत्र जांच में फर्जी पाए गए हैं। जिले में 2 साल में 69 फर्जी शिक्षकों की सेवाएं समाप्त की जा चुकी है। शिकायत के आधार पर विभाग द्वारा गोपनीय जांच कराई गई जिसमें यह सारे शिक्षक फर्जी पाए गए। तब इनकी सेवाएं समाप्त कर दी गई। 55 के ऊपर मुकदमा भी दर्ज कर दिया गया है बाकी पर भी मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई चल रही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6