2

भूगर्भ जल संरक्षण संगोष्ठी विकासखंड दुबेपुर सुल्तानपुर

भूगर्भ जल संरक्षण संगोष्ठी विकासखंड दुबेपुर सुल्तानपुर

केएमबी रुकसार अहमद
भारत दुनिया का सबसे ज्यादा भूगर्भ जल का उपयोग करने वाला देश है लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है कि भूगर्भ जल संरक्षण के मामले में भारत सबसे पीछे है वर्तमान सरकार द्वारा भूगर्भ जल संरक्षण की कई योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं यशस्वी मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश के 82 विकासखंड जो डार्क जोन में थे जहां पर भूगर्भ जल काफी नीचे चला गया था उनमें से लगभग 22 ब्लॉक आज सामान्य स्थिति में पहुंच चुके हैं सरकार की नीतियों का परिणाम है 2019 में प्रधानमंत्री जी ने भूजल संरक्षण के लिए राज्यों में अटल भूजल प्रबंधन योजना प्रारंभ की जिसमें 50% धनराशि विश्व बैंक द्वारा पोषित है ताकि जल प्रबंधन के क्षेत्र में नई-नई तकनीकों के माध्यम से भूगर्भ जल की उपलब्धता को बढ़ाया जा सके। भूगर्भ जल का लगभग 89 फ़ीसदी हम लोग सिंचाई में प्रयोग करते हैं कृषि के क्षेत्र में इसका उपयोग होता है पुरातन सिंचाई पद्धति अपनाने के कारण भारी मात्रा में जल की बर्बादी होती है सरकार द्वारा सब्सिडी पर सिंचाई की नई नई तकनीकी योजनाएं विकास खंडों मैं उद्यान विभाग में संचालित हो रही हैं विकासखंड दुबेपुर के सभी किसान बंधुओं से निवेदन है कि इन योजनाओं का लाभ उठाएं ताकि धरती की कोख जल उपलब्धता से हमेशा लब्ध रहे। बारिश की एक-एक बूंद हमारे लिए जरूरी है उसका संचयन हमारे लिए जरूरी है इसलिए क्षेत्र पंचायत योजना से वाटर हार्वेस्टिंग प्लांट लगाने का निर्णय किया गया है
इस कार्यक्रम में खंड विकास अधिकारी संदीप सिंह, जे राधे कृष्ण जी जय कुमार सिंह जी अभय राज सिंह जी एडीओ पंचायत विकासखंड के पंचायत सचिव और प्रधान बंधु उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6