2

लेखपाल का रिश्वत मांगने का ऑडियो हुआ वायरल, पीड़ित ने जिलाधिकारी से की शिकायत

लेखपाल का रिश्वत मांगने का ऑडियो हुआ वायरल, पीड़ित ने जिलाधिकारी से की शिकायत

केएमबी रुकसार अहमद
सुल्तानपुर। लेखपाल ने पक्ष में रिपोर्ट लगाने के लिए पीड़ित से मांगा पांच हजार रुपए। रुपए न मिलने पर विपक्ष में लगा दी रिपोर्ट। पूरा मामला कादीपुर तहसील के गौरा टिकरी गांव से जुड़ा है। पीड़ित ने बताया एक हदबरारी का वाद उप जिला अधिकारी कादीपुर के न्यायालय में दायर करके पैमाइश कराई गई थी जिसको नाप कर गाटा संख्या 498 में पैमाइश कर कब्जा दिलाया गया। जिस पर विपक्षी आबाद हैं। शेष रकबा 00.42 हेक्टेयर पर इनकी आबादी दिखाई गई है और 0.061 हेक्टेयर में खड़ंजा आबादी दिखाकर पैमाइश से बाहर कर दी गई। उस 0.061 हेक्टेयर पर उप जिलाधिकारी के आदेश में कब्जा दिलाने व पत्थर नसब का कोई जिक्र नहीं है। ऐसी दशा में आबादी की भूमि होना दर्शाया गया है, जो पत्थर नसब के बाहर है तथा उसी जमीन का विवाद दीवानी न्यायालय में विचाराधीन है, जिसमें तारीख पेशी 03-08-2022 कोर्ट द्वारा नियत की गई है। गाटा संख्या 498 में पीड़ित की आबादी भी है। इसी नंबर में डेढ़ बीघे की आबादी भी पीड़ित के खतौनी में दर्ज है। इसी नंबर में विपक्षी द्वारा पीड़ित की आबादी को भी दिखा कर 0.061 हेक्टेयर भूमि विपक्षी द्वारा बैनामा ले लिया गया है जिसे हदबरारी में आबादी दिखाया गया है। इस स्थिति में धारा 24 के तहत 17-11-2018 के आदेश का अनुपालन कराया जाना आवश्यक है। इसी जमीन की पैमाइश करने के लिए हल्का लेखपाल द्वारा पीड़ित से पांच हजार रुपए की मांग की गई। पैसा न मिलने पर लेखपाल द्वारा नापी करके गलत रिपोर्ट लगा दी गई जिसकी शिकायत पीड़ित ने जिलाधिकारी रवीश गुप्ता से की है। अब देखना है कि पीड़ित को जिलाधिकारी के यहां से न्याय मिलता है और भ्रष्ट लेखपाल के विरुद्ध कार्यवाही होती है या नही, यह तो भविष्य के गर्भ में है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6