2

चित्रकला व नारा लेखन से बताए कुपोषण से दूर रहने के उपाय

चित्रकला व नारा लेखन से बताए कुपोषण से दूर रहने के उपाय

केएमबी संदीप डेहरिया

सिवनी। शासकीय महाविद्यालय कुरई, सिवनी (मप्र) में राष्ट्रीय सेवा योजना व स्वामी विवेकानंद कैरियर मार्गदर्शन योजना के तत्वाधान में राष्ट्रीय पोषण माह 2022 के अंतर्गत महिला व स्वास्थ्य और बच्चा और शिक्षा विषय पर पोस्टर नारा लेखन प्रतियोगिता सम्पन्न हुई। इन प्रतियोगिताओं को सम्पन्न कराने में तीजेश्वरी पारधी का योगदान रहा। इस अवसर पर तीजेश्वरी पारधी ने कहा कि "संतुलित आहार खाओ,कुपोषण को दूर भगाओ"। रासेयो कार्यक्रम अधिकारी पंकज गहरवार ने अपने शायराना अंदाज में कहा कि "एक बच्चा जो की बिन दूध न सोया अब तक, उसकी आँखों की कोई नींद बना दे मुझको"। इन पंक्तियों के माध्यम से प्रो. गहरवार ने बच्चों के प्रति हमदर्दी  प्रकट की। चित्रकला के माध्यम से बीएससी प्रथम वर्ष में अध्य्यनरत छात्रा सदफ नाज और वैष्णवी ने सन्देश दिया कि बच्चों को पौष्टिक आहार देने से और शिक्षा देने से एक स्वस्थ्य भविष्य का निर्माण होगा। प्राचार्य बीएस बघेल ने कहा कि पोषण माह 1 से 30 सितंबर तक चलेगा। इस पोषण आहार अभियान का मुख्य लक्ष्य गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली माताओं एवम 6 साल से कम आयु के बच्चे एवम किशोरियों में पोषण संबंधी समस्याओं का समाधान करके सुपोषित भारत बनाना हैं। इस मौके पर महाविद्यालय स्टाफ से डॉ कंचनबाला डावर, डॉ श्रुति अवस्थी, जयप्रकाश मेरावी , रविन्द्र अहिरवाल की उपस्थिति रही। राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़े स्वयंसेवक व कैरियर मार्गदर्शन योजना से जुड़े कैरियर मित्र शिफा अंजुम,निकिता नागवंशी, रेहाना खान, दुर्गा गिरी, मनीषा भलावी ने नारा लिखकर लोगों में कुपोषण के प्रति जागरूकता लाते हुए संदेश दिया कि संतुलित आहार से कुपोषण दूर हो सकता हैं।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6