2

नहर की पटरी कट जाने के कारण किसानों की सैकड़ों बीघा धान की फसल हुई जलमग्न

नहर की पटरी कट जाने के कारण किसानों की सैकड़ों बीघा धान की फसल हुई जलमग्न

केएमबी कर्मराज द्विवेदी

चांदा सुल्तानपुर। रामगंज रजवाहे में अधिक मात्रा में पानी छोड़े जाने से नहर शुकुलउमरी में गांव कट गई। नहर की दक्षिणी पटरी कटने से शुकुल उमरी व पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ के सौराई गाँव के दर्जनों किसानों की सैकड़ों बीघा धान की फसल जलमग्न हो गई। फिलहाल नहर कटने की सूचना पर अवर अभियंता मौके पर पहुंचकर नहर कटान को रोकने के उपाय में जुटे हुए हैं। दूसरी तरफ किसानों का कहना है कि नहर ओवर फ्लो होने की सूचना सिचाई विभाग को सोमवर को ही दे दिया गया था लेकिन सिंचाई विभाग द्वारा समय रहते कोई कदम नहीं उठाया गया। विकासखंड पीपी कमैचा की ग्राम पंचायत शुकुल उमरी है।  शुकुल उमरी गांव से होकर रामगंज रजवाहा गुजरता है। सोमवार दिन में नहर का जलस्तर काफी बढ़ गया था। ग्रामीणों ने सिंचाई विभाग के अभियंताओं को इस संदर्भ में अवगत कराया लेकिन विभाग तो मानो नहर कटने की प्रतीक्षा में था। सोमवार की सुबह जब ग्रामीणों की आंख खुली तो देखा कि शुकल उमरी गांव के रामनाथ यादव, रामकरण, राम शिरोमणि, भारत उदयराज, कन्हैया कोरी सहित पड़ोसी जनपद प्रतापगढ़ के सौराई गांव के दर्जनों किसानों की जमीन जलमग्न हो चुकी है। अवर अभियंता सिंचाई सरवर अली शुकुल उमरी पहुँचकर जल प्रवाह को रोकने के लिए जेसीबी, मिटटी भरी बोरियां लगाकर पानी को रोकने का उपक्रम किए है।किसानों का आरोप है कि विभाग के आला अधिकारी समय रहते अगर पानी छोडे जाने की मात्रा सीमित कर दिए होते तो किसानों को भारी नुकसान से बचाया जा सकता था।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6