2

ज्योति निषाद के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए विरोध-प्रदर्शन

ज्योति निषाद के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए विरोध-प्रदर्शन

केएमबी सुनील कुमार

सुलतानपुर। 20-09-2022 को मोस्ट कल्याण संस्थान, उ.प्र. के तत्वाधान में अरविंद निषाद के नेतृत्व में ज्योति निषाद के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए भारी तादात में उपस्थित लोगों ने पुलिस-प्रशासन के खिलाफ आक्रोश व्यक्त किया और जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में पीड़ित परिजनों को समुचित न्याय दिलाने के लिए मांग की गई है कि मृत्यु के कारणों की सही जानकारी के लिए पुनः पोस्टमार्टम डाक्टरों के पैनल द्वारा कराया जाए और विसरा रिपोर्ट तत्काल मंगाई जाय तथा हॉस्पिटल के संचालक व डाक्टरों के खिलाफ हत्या व अपराध छिपाने का मुकदमा दर्ज कर तत्काल गिरफ्तार किया जाए एवं पीड़ित परिजनों के जान-माल की सुरक्षा के लिए कम से कम दो असलहा रखने का लाइसेंस दिया जाए तथा पीड़ित परिवार को शासन से 25 लाख का मुआवजा दिलवाये जाने की संस्तुति की जाय एवं पीड़ित परिवार द्वारा हॉस्पिटल व उसके डाक्टरों पर लगाए गए सभी आरोपों की निष्पक्ष जांच की मांग की। मोस्ट कल्याण संस्थान के निदेशक शिक्षक श्यामलाल निषाद 'गुरुजी' ने बताया कि अपर जिलाधिकारी सुलतानपुर, उपजिलाधिकारी सदर, अपर पुलिस अधीक्षक ने ज्ञापन लिया और उक्त अधिकारियों ने उपस्थित जन सैलाब को आश्वस्त किया कि  ज्ञापन में की गई माँग की संस्तुति की जा रही है। निषाद ने कहा कि हम संघर्ष करने वाले लोग हैं, पीड़ित परिवार को समुचित न्याय न मिलने की दशा में पुलिस-प्रशासन के खिलाफ मोस्ट कल्याण संस्थान उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगा। उल्लेखनीय है कि ज्योति निषाद पुत्री शिव प्रसाद निषाद (उम्र 22) निवासी ग्राम-फतेहपुर संगत, थाना-गोसाईगंज, सुलतानपुर के परिजनों का कथन है कि दिनांक 06 सितम्बर 2022 को रात में लगभग 12 बजे जीवन ज्योति हॉस्पिटल, गोलाघाट, कस्बा सुलतानपुर में भर्ती कराया और दिनांक 07 सितम्बर 2022 को सुबह 5 बजे उक्त हॉस्पिटल में मृत पाया गया और उक्त अस्पताल के डाक्टर नशे की हालत में पीड़ित परिवार के साथ अभद्रता भी की। मृतक के परिजनों का आरोप है कि उक्त अस्पताल के संचालक व डाक्टरों ने अपना अपराध छिपाने के लिए ज्योति निषाद की हत्या कर दी। कश्यप निषाद सभा के प्रांतीय अध्यक्ष खेमई प्रसाद निषाद ने धरना प्रदर्शन में शामिल लोगों का धन्यवाद देते हुए आश्वस्त किया कि हम लोग मिलजुल कर लड़ाई लड़ते रहेंगे। इस मौके पर मोस्ट कल्याण संस्थान के सचिव रविकांत निषाद, प्रधान महासचिव राम उजागिर यादव, एडवोकेट आनंद निषाद, घनश्याम निषाद, पूर्व जिला पंचायत सदस्य छोटेलाल निषाद, रमेश निषाद, प्रधान शिव कुमार निषाद, प्रधान नीरज निषाद, प्रधान योगेश निषाद, शिवबक्श निषाद, महादेव निषाद, राकेश निषाद, मंगला प्रसाद निषाद, अंशू निषाद, रामू निषाद, मनोज कुमार, रंजीत निषाद, संतराम, बृजेश निषाद, देवतादीन निषाद, रोहित कुमार सहित हजारों लोग मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6