2

3 जनवरी को सावित्री बाई फूले की जयंती पर अवकाश घोषित करने की माँग

3 जनवरी को सावित्री बाई फूले की जयंती पर अवकाश घोषित करने की माँग 

केएमबी सुनील कुमार

सुल्तानपुर। 20 दिसंबर 2022 को देर सायं विकास भवन स्थित प्रेरणा सभागार में मोस्ट कल्याण संस्थान उ.प्र. के तत्वाधान में मोस्ट महिला विंग की जिला संयोजक सीमा बौद्ध के नेतृत्व में 3 जनवरी को स्थानीय अवकाश घोषित किये जाने के औचित्य के सम्बन्ध में जिलाधिकारी रवीश गुप्ता के साथ मोस्ट बौद्धिक प्रतिनिधि मंडल ने वार्ता की। उक्त अवसर पर मोस्ट प्रतिनिधि मंडल ने कहा कि देश की प्रथम शिक्षिका माता सावित्री बाई फूले जी द्वारा देश भारत के इतिहास में बालिकाओं के लिए प्रथम स्कूल (1848 ई.) खोलने व पठन-पाठन के क्षेत्र में किये गए कठिन संघर्ष से जन साधारण (विशेषतया महिलाओं) को शिक्षा के प्रति प्रेरित करने के लिए शासन स्तर से प्रत्येक 03 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश घोषित करने और उक्त अवसर पर जनपद के सभी शिक्षण संस्थानों में फूले जी के शिक्षा के प्रसार में किये गए कठिन संघर्ष से छात्रों को अवगत कराने के लिए आवश्यक निर्देश देने की माँग की। वार्ता के दौरान मोस्ट कल्याण संस्थान के निदेशक शिक्षक श्यामलाल निषाद "गुरुजी" ने कहा कि समय और परिस्थितियों के अनुक्रम में जब संविधान में संशोधन किया जा सकता है तो स्त्री शिक्षा के महत्व को ध्यान में रखते हुए देश की प्रथम शिक्षिका माता सावित्री बाई फूले की जयंती पर अवकाश घोषित किया किया जाना युक्तियुक्त होगा। जिलाधिकारी रवीश गुप्ता ने मोस्ट बौद्धिक प्रतिनिधि मंडल को आश्वस्त किया कि परीक्षणोपरांत यथासम्भव स्थानीय अवकाश का निर्णय लिया जाएगा। उक्त अवसर पर संत गाडगे मिशन के जिलाध्यक्ष त्रिवेणी प्रसाद कनौजिया ने अपने संस्था के पैड पर डीएम से 3 जनवरी को अवकाश की माँग की। मोस्ट प्रतिनिधि मंडल में  से.नि. एडीओ भारत राम, से.नि. बृजलाल कनौजिया, मोस्ट जनरल सेक्रेटरी राम उजागिर यादव, फौजी सन्तोष सोनकर, एड. झिनकू राम विश्वकर्मा, से.नि. लेखाकार राम जतन बौद्ध, ताहिरा खान, शिक्षक राजेश कनौजिया, जीतू राम साही, नन्दलाल गौतम, एड. टी.डी. गौतम, शिक्षक दिनेश सोनकर, प्रधानाध्यापक एन.डी. विद्रोही, शिक्षक दिनेश सोनकर, एड. विनोद गौतम, एड. देवतादीन निषाद, शिक्षक विजय भास्कर, एड. उदय बौद्ध, एड. संदीप, केशवती, सीमा, राजबाला, सरजूदीन बौद्ध, शिक्षक सुरेश लाल कनौजिया, एड. गोविन्द कोरी, नरेंद्र कुमार निषाद, मो. अकबर, राकेश निषाद, अमृतलाल निषाद सहित सैकड़ों लोग शामिल रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8


 

6