2

भारतीय ओलंपिक संघ की 7 सदस्यीय कमेटी करेगी पहलवानों के यौन शोषण के शिकायत की जांच

भारतीय ओलंपिक संघ की 7 सदस्यीय कमेटी करेगी पहलवानों के यौन शोषण के शिकायत की जांच

केएमबी बीपी शर्मा

नई दिल्ली। सरकार द्वारा पहलवानों से की जा रही वार्ता बेनतीजा निकली। पहलवानों की शिकायत पर भारतीय ओलंपिक संघ ने आपातकालीन बैठक बुलाकर भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह और पहलवानों के बीच विगत 3 दिन से जारी जंगल की जांच के लिए 7 सदस्य कमेटी का गठन किया गया है जो मामले की जांच करेग। विदित रहे कि पहलवानों की शुक्रवार देर शाम खेल मंत्री अनुराग ठाकुर के साथ हुई बातचीत में भी कोई ठोस नतीजा नहीं निकला। इधर पहलवान बृजभूषण शरण सिंह की बर्खास्तगी पर पड़े हुए हैं। पहलवानों का कहना है कि जब तक भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को अध्यक्ष पद से बर्खास्त नहीं किया जाता है, तब तक वह अपनी जगह पर डटे रहेंगे। उधर गोंडा में आयोजित होने वाली प्रतियोगिता में अधिकांश पहलवानों ने प्रतियोगिता का बहिष्कार किया है। गोंडा आए पहलवानों ने प्रतियोगिता का बहिष्कार कर वापस लौट गए। इन पहलवानों में ज्यादातर पहलवान हरियाणा के बताए जा रहे हैं। पहलवानों का दावा है कि प्रतियोगिता में शामिल होने वाले 90 फ़ीसदी पहलवान उनके साथ हैं। वे अपने सभी सीनियर खिलाड़ियों के समर्थन में दिल्ली के जंतर मंतर जा रहे हैं। भारतीय ओलंपिक कुश्ती संघ के अध्यक्ष और भाजपा के कैसरगंज के सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने अपने ऊपर लगे सारे आरोपों को बेबुनियाद बताया है और उन्होंने कहा कि देश के अधिकतर पहलवानों के साथ हैं। यौन शोषण के आरोपों पर कहा कि सब झूठ बोल रहे हैं और लोग जान भी रहे हैं। बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि यदि उन्होंने मुंह खोला तो सुनामी आ जाएगी। अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देने की बात पर उन्होंने कहा जवाब मांगा गया है, जल्द ही जवाब भेज दिया जाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7


8


 

6