08वें 'विश्व योग दिवस' पर शासकीय महाविद्यालय कुरई में किया गया योगाभ्यास

08वें 'विश्व योग दिवस' पर शासकीय महाविद्यालय कुरई में किया गया योगाभ्यास

केएमबी अंजेलाल विश्वकर्मा

सिवनी। शासकीय महाविद्यालय क़ुरई जिला सिवनी (मप्र) में विश्व योग दिवस योगा फार ह्यूमैनिटी अर्थात मानवता के लिए योग थींम को लेकर मनाया गया।इस अवसर पर रासेयो कार्यक्रम अधिकारी प्रो. पंकज गहरवार ने सभी  को योग दिवस की शुभकामनाएं प्रेषित की।सहायक कार्यक्रम अधिकारी तीजेश्वरी पारधी ने योग दिवस का इतिहास और महत्व बताते हुए कहा कि - 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 21 जून को विश्व योग दिवस मनाने की घोषणा की थी। जिसके बाद साल 2015 में 21 जून को दुनियाभर में योग दिवस मनाया गया और ये सिलसिला अभी तक जारी है। हालांकि भारत में योग का इतिहास बहुत पुराना है। राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़ी कु पूजा डोंगरे ने योग का महत्व बताया और कहा कि योग शरीर को रोगमुक्त रखता हैं और मन को शांति देता हैं। पूजा डोंगरे ने ही इस आयोजन का संचालन करते हुए सभी को योगाभ्यास कराया। सामान्य योग अभ्यास के पूर्व महाविद्यालय में माननीय प्रधानमंत्री व माननीय मुख्यमंत्री जी के संदेश का सीधा प्रसारण लैपटॉप के माध्यम से दिखाया गया। इस आयोजन में महाविद्यालय स्टॉफ से प्राचार्य बीएस बघेल, डॉ अखिलेश शेंडे, पवन सोनिक,जयप्रकाश मेरावी, डॉ राजेश चौरसिया,योगेश तिवारी, संतोष चंचल,अंकित गोयनर, डॉ सतीश झारिया,अलका नागले , तीजेश्वरी पारधी सहभागी रहे। इस आयोजन की व्यवस्था बनाने और सामान्य योगाभ्यास में शामिल होने में विद्यार्थियों जिनमे योगेश श्रीवास, शिफा अंजुम, निकिता नागवंशी, पिंटू बरमैया, रोहित मरकाम, दुर्गा गिरी, रेहाना खान का योगदान रहा। कार्यक्रम अधिकारी पंकज गहरवार ने सभी का आभार प्रकट किया और कहा कि आइए, सभी लोग 'योग करें, निरोग रहें!'

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.