2

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 175 जोडे दाम्पत्य सूत्र में बंधे

के एम बी ब्यूरो सुधीर राय 



 👉 महाराजा  अग्रसेन इंटर कालेज में आयोजित हुआ सामूहिक विवाह कार्यक्रम 

 👉 163 हिन्दू जोडो का वैदिक रीतियों से विवाह तथा 12 मुस्लिम जोडो का कराया गया निकाह 


👉  सभी अतिथियों द्वारा नवदम्पत्तियों को दी गयी शुभकामनाएं 





👉 देवरिया 10 जून। महाराजा अग्रसेन इंटर कालेज  परिसर में आज आयोजित भव्य एवं आकर्षक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत कुल 175 जोडे एक-दूजे संग विवाह के बंधन में बंध गए। 163 जोड़ों का विवाह हिन्दू रीतियों से तथा 12 जोड़ों का मुस्लिम रीति से विवाह सम्पन्न कराया गया। 


👉 नवदम्पतियों को रामपुर कारखाना विधायक सुरेन्द्र चौरसिया, पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, एमएलसी प्रतिनिधि राजू मणि, शेषनाथ, पिंटू चौरसिया सहित अतिथियों, जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों द्वारा आशीर्वाद दिया गया एवं उनके सुखद भविष्य की कामना की गई।










    👉   समारोह के मुख्य अतिथि विधायक रामपुर कारखाना सुरेंद्र चौरसिया ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबों की शादी धूमधाम एवं भव्यता के साथ सुनिश्चित हो, इसके लिये मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना संचालित कर रही है।  इस योजना की वजह से गरीब अभिभावकों को भी अपनी बेटी की शादी धूमधाम से करने का अवसर मिल रहा है। आर्थिक कठिनाइयों की वजह से गरीब परिवारों को अपनी बेटियों की शादी का खर्च उठाने में समस्या होती थी।इस परेशानियों के दृष्टिगत माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा यह योजना चलाई गई, ताकि खुशी व गाजे-बाजे व भव्य आयोजनो के साथ उनकी भी शादी हो सके।

    👉    पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा ने कहा कि यह प्रदेश सरकार की अत्यन्त महत्वपूर्ण योजना है। आज इसके माध्यम से एक साथ, एक ही मण्डप में दाम्पत्र सूत्र में बडी संख्या में बंध रहे है, जिसके हम सभी साक्षी है। उन्होने सभी जोड़ों को शुभकामनायें दी।  

     👉 मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार ने नव दम्पतियों के मंगलमय जीवन की कामना की तथा सभी अतिथियों के प्रति आभार जताया।  उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछडे वर्ग, अल्पसंख्यक वर्ग एवं सामान्य वर्ग के गरीब व्यक्तियों, जिनकी वार्षिक आय 02 लाख है, के पुत्रियों की शादी सम्पन्न हुई। योजना के प्राविधानों के अनुसार प्रत्येक जोडे पर 51 हजार व्यय किया गया है, जिसमें विवाहित कन्या के खाते में 35 हजार रुपये, 10 हजार रुपये मूल्य के गृहस्थी की सामग्री एवं वस्त्र आभूषण तथा 06 हजार रुपये भोजन, टेन्ट आदि पर खर्च किये गए।

    👉   इस कार्यक्रम में जिला समाज कल्याण अधिकारी जैसवार लाल बहादुर, जिला प्रोबेशन अधिकारी अनिल कुमार सोनकर, श्रम प्रवर्तन अधिकारी शशि सिंह सहित विभिन्न अधिकारी व कर्मचारी गण आदि उपस्थित रहे एवं नव विवाहितों के सुखमय जीवन की कामना की









एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

7

8

6