2

पोस्टमार्टम के 24 घंटे बाद भी शव दफनाने को लेकर पुलिस और परिजन आमने-सामने

पोस्टमार्टम के 24 घंटे बाद भी शव दफनाने को लेकर पुलिस और परिजन आमने-सामने

केएमबी रूकसार अहमद
सुल्तानपुर। संदिग्ध परिस्थितियों में घायल युवक की मौत मामले में पुलिस और ग्रामीण आमने सामने हो गए हैं। पोस्टमार्टम परिजनों द्वारा शव को घर लाया गया। शव लाने के बाद परिजनों ने मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग को लेकर अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया है। परिवारी जनों ने पुरानी दुश्मनी में हत्या किए जाने की तहरीर पुलिस को दी है लेकिन पुलिस मुकदमा दर्ज करने के बजाय शव का अंतिम संस्कार करने का दबाव बना रही है।पुलिस बिलखती महिलाओं को धमकाने में जुटी है। मौके पर मामला बढ़ता देख भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। उधर कई सगठनों के लोग मौके पर जमा है। परिजन मुकदमा दर्ज करने और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांगों पर अडिग हैं। किसी भी कीमत पर अंतिम संस्कार करने को राजी नहीं है।मामला बीते 23 अक्टूबर को लापता हुए युवक का संदिग्ध परिस्थितियों में शव मिलने का है,जिसपर मृतक के परिवार वालों ने हत्या की आशंका जताई थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था लेकिन मृतक युवक के संबंध में स्थानीय थाना पर मुकदमा पंजीकृत न होने से मृतक के परिवार शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर रहे थे। अंतिम संस्कार के लिए नगर कोतवाली की पुलिस पीड़ित परिवार के पास पहुंचकर पीड़ित परिवार को अंतिम संस्कार करने के लिए डरा एवं धमका रही है जिसको सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में साफ देखा जा सकता है। इस संदर्भ में कोतवाली नगर थानाध्यक्ष से वार्ता करने पर उन्होंने बताया पुलिस द्वारा पीड़ित परिवार को डराया और धमकाया नहीं गया है। पीड़ित परिवार की तहरीर अभियुक्तों के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है और परिवारी जन अंतिम संस्कार के लिए राजी हो गए हैं।

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.
  1. वायरल वीडियो को देखकर तो ऐसा नही लग रहा था की पुलिस का कोई सहयोग मिल रहा है परिवारजनों को!

    जवाब देंहटाएं

7


8

6